Saturday , May 25 2024

मंत्रोच्चार और शंख की ध्वनियों के बीच हुआ गुरु का ओंकार पूजन

श्री बंदी माता मंदिर डालीगंज का 41वां वार्षिक अनुष्ठान

लखनऊ। श्री बन्दी माता मंदिर अखाड़ा समिति  में श्री श्री 1008 अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री महंत देवेंद्र पुरी जी महाराज का उनके शिष्यों ने विधिविधान से अभिषेक पूजन किया। गुरुपूजन में शिष्यों ने महाराज का जल, दूध, शक्कर, दही, शहद, चंदन, हल्दी, कुमकुम, केसर से अभिषेक किया। 

मंगलवार को महामंडलेश्वर स्वामी श्री विनोदनंद पुरी जी महाराज का भव्य अभिनंदन अभिषेक होगा। बंदीमाता मंदिर अखाड़ा समिति के मंत्री महंत मनोहर पुरी ने बताया कि अभिषेक पूजन पूरे विश्वभर के शिष्य अपने गुरु का सामर्थ्य- भाव अनुसार करते हैं। डालीगंज के श्री बंदी माता मंदिर के 41वें वार्षिक अनुष्ठान में सैकड़ों की संख्या मे श्रद्धालु शामिल हुए। सात दिवसीय अनुष्ठान में प्रत्येक दिन श्री सप्तचंडी महायज्ञ, श्रीमदभावत कथा और रासलीला कार्यक्रम हो रहे हैं। 

वृन्दावन धाम कि कथा व्यास साध्वी रोली शास्त्री ने श्रीमद्भगवत कथा में भगवान श्री कृष्ण की महिमा का बखान किया। उन्होंने कंस का अत्याचार और कृष्ण भगवान के अवतार धारण करने की कथा सुनाई। मथुरा से आये कलाकारों ने रासलीला में श्रीकृष्ण के विभिन्न प्रसंग पेश किये। वार्षिक अनुष्ठान श्री पंचदशनाम जूना अखाडा के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष देवेंद्र पुरी जी महाराज के सानिध्य और क्षेत्रीय पार्षद रणजीत सिंह के संयोजन में हो रहा है। श्री बंदी माता मंदिर अखाडा समिति की संगठन मंत्री और पंचदशनाम जूना अखाडा की महंत-  महंत पूजापुरी, पूर्व पार्षद रेखा रोशनी, बंदीमाता मंदिर अखाड़ा समिति के मंत्री महंत मनोहर पुरी, महंत भूपेंद्र पुरी, पुजारी भास्कर पुरी, यज्ञाचार्य प्रदीप पंचाल सहित अन्य साधुसंत मौजूद रहे। सप्तचंडी यज्ञ बंदीमाता मंदिर महाराज रोशनपुरी, जूना अखाड़ा के थानापुरी महंत राजपुरी, सप्तचण्डी यज्ञाचार्य महंत शिवानन्द पुरी व आचार्य प्रदीप पंचाल सहित अनेक  ब्राह्मणों के सानिध्य में हुआ।