Sunday , June 16 2024

जनशक्ति सम्मान से नवाजी गई सेवा, सुरक्षा, लेखनी

सम्मान को सहेजकर रखें यह जीवन में आगे बढ़ने की देता है प्रेरणा : डा दिनेश शर्मा

(शम्भू शरण वर्मा)

लखनऊ। हर व्यक्ति को जीवन में मिले सम्मान को सहेजकर रखना चाहिए क्योंकि यह आगे बढने की प्रेरणा देता है। केवल अच्छे काम करने वालों को ही सम्मानित किया जाता है क्योंकि उन्होंने समाज में अनीति करने वालों को नीति पाठ पढाने में विजय प्राप्त की होगी। मां गायत्री जनसेवा संस्थान व नीशु वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा रविवार को आयोजित जनशक्ति सम्मान समारोह में उक्त बातें बतौर मुख्य अतिथि मौजूद पूर्व डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा ने कहीं। नेशनल पीजी कालेज सभागार में आयोजित समारोह का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ करने के बाद उन्होंने कहा कि समय के बदलाव के साथ संस्कृति में बदलाव हो रहा है और युवा इस नकारात्मक बदलाव के शिकार हो रहे हैं। इस नकारात्मक बदलाव को रोकने की जिम्मेदारी पुलिस के साथ ही पत्रकार की भी है। पुलिस बल को युवाओं को नियम पालन का संदेश देना चाहिए। पत्रकार को समाज में गिरते मूल्यों को पुन: स्थापित करने की दिशा में काम करना चाहिए। समाज सेवियों की जिम्मेदारी है कि प्राचीन समय का सामाजिक गौरव फिर वापस आए। युवाओं में संस्कारों का समावेश हो और इसे जन जन तक सकारात्मक रूप में पहुंचाने की जिम्मेदारी पत्रकार की होती है। डा. दिनेश शर्मा ने कहाकि पुलिस और पत्रकार एक दूसरे के पूरक और प्रतिद्वन्दी दोनो होते हैं। पत्रकार जहां समाज की समस्याओं को उठाता है वहीं पुलिस उसके निराकरण का प्रयास करती है। समाजसेवी का प्रयास रहता है कि गलत घटनाएं समाज में नहीं हों। उन्होंने कहाकि समय के साथ पुलिस की जिम्मेदारी बढी है। पुलिस संदेश साफ होना चाहिए कि अपराधी डरे और जनता निर्भय रहे। वर्तमान में पुलिस बल का स्वरूप बदला है और इसमें महिलाएं भी शामिल होकर अच्छा कार्य कर रही हैं। अपने गुजरात के अनुभव को साझा करते हुए डा. शर्मा ने बताया कि उन्होंने वहां पर देखा कि पुलिस बल में तनाव को कम करने और अधिकारी व नीचे के कर्मियों के बीच में संवाद को सुचारू रखने के लिए टिफिन बैठक का एक प्रयोग सरकार द्वारा किया गया था जो बेहद सफल रहा था। किसी भी विभाग में जब अधिकारी और कर्मचारी के बीच की दूरी कम होती है तो कार्यकुशलता अपने आप बढ जाती है।

 

उन्होंने कहा कि पत्रकार लोकतंत्र का एक स्तंभ होने के साथ ही समाज के सजग प्रहरी होते हैं। उनकी लेखनी  सकारात्मक और नकारात्मक दोनो ही प्रकार की दृष्टि रखती है। पत्रकार की लेखनी समाज में एकता स्थापित करने में जितना अहम हो सकती है उसकी लेखनी कभी कभी उतनी ही विध्वंसात्मक भी हो सकती है। इसलिए लेखनी का सकारात्मक होना बहुत जरूरी है। कई जगहों पर देखा गया है कि पुलिस और पत्रकारों के सकारात्मक रवैये के चलते बडी बडी घटनाएं तुरन्त शान्त हो गई।

भाजपा एमएलसी व एसआर ग्रुप के चेयरमैन पवन सिंह चैहान ने कहा कि हमारा समाज तभी विकास कर सकता है जब समाज का प्रत्येक व्यक्ति अपने कर्तव्यों को भली प्रकार से निभाए और ऐसे लोगों को समाज में जरूर सम्मान मिलना चाहिए। इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार नागेंद्र बहादुर सिंह, आलोक राजा, समाजसेविका हेमलता त्रिपाठी, रुपाली श्रीवास्तव, मंजू श्रीवास्तव, सोनी वर्मा, मनोज सिंह चौहान, अश्वनी जायसवाल सहित सेवा, सुरक्षा व लेखनी से जुड़े 31 पुलिसकर्मियों, 21 पत्रकारों व 51 समाजसेवियों को अंगवस्त्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। 

माँ गायत्री जनसेवा संस्थान के अध्यक्ष अरूण प्रताप सिंह व नीशु वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष गुंजन वर्मा ने बताया कि दोनों संस्थाएं समाज के लिए हमेशा एक साथ खड़ी रहती हैं। गरीबों व जरूरतमंदों के लिए राशन, शिक्षा, रोजगार, इलाज व गरीब बहनों की शादी में मदद के साथ साथ ‘‘मेरी यात्रा’’ के तहत दो सिलाई सेंटर भी स्थापित किए गए। जहां निशुल्क प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इन सभी को करने में समाज के मजबूत स्तंभ पुलिस, पत्रकार व समाजसेवियों का भरपूर सहयोग मिलता है। जिसके चलते जनशक्ति सम्मान का यह दूसरा संस्करण आयोजित किया गया है। वहीं महिला पुलिस कर्मियों को महिला दिवस पर सम्मानित किया जाएगा। समारोह में बतौर विशिष्ठ अतिथि मौजूद पूर्व विधायक सुरेश तिवारी, आरके चतुर्वेदी (पूर्व आईजी उत्तर प्रदेश पुलिस), मुकेश बहादुर सिंह (चेयरमैन इंडो अमेरिकन चैम्बर ऑफ कामर्स), संतोष श्रीवास्तव (समाजसेवी व डायरेक्टर नीलांश ग्रुप), बृजेश सिंह, शाम्भवी सिंह, समीर शेख, भाजपा पार्षद अनुराग मिश्रा अन्नु नेशनल पीजी कॉलेज के प्रिंसीपल देवेन्द्र कुमार सिंह, इग्नू की क्षेत्रीय निदेशक मनोरमा सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किये।

इस मौके पर मां गायत्री जनसेवा संस्थान व नीशु वेलफेयर फाउंडेशन के सचिव हेमू चौरसिया व मोनालिसा, रोली जायसवाल, संदीप शुक्ला के साथ मनोज सिंह चौहान, रणवीर सिंह, विनय दुबे कुंवर अंशुमान सिंह, कृष्ण प्रताप सिंह, सत्य शरण सिंह, मनीष पंडित, मो. इमरान खान, हिमांशु दीक्षित, शंकर वर्मा, पीयुष कुमार दुबे, अभिजीत सिंह बिशेल, नीरज यादव, सरूपा तिवारी, उमा सिंह, रोली सिंह, विशाल श्रीवास्तव, आयुष त्रिपाठी, मनोज पाण्डेय, आलोक दीक्षित, नितिन तिवारी, गोविन्द कनोजिया, सौरभ अग्रवाल, रूद्र प्रताप वाजपेयी व उत्तर पोरवाल, मुकेश मिश्रा सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। मंच का संचालन आरजे प्रदीप कुमार शुक्ला ने किया।

इस मौके पर मां गायत्री जनसेवा संस्थान व नीशु वेलफेयर फाउंडेशन के सचिव हेमू चौरसिया व मोनालिसा, रोली जायसवाल, संदीप शुक्ला के साथ मनोज सिंह चौहान, रणवीर सिंह, विनय दुबे कुंवर अंशुमान सिंह, कृष्ण प्रताप सिंह, सत्य शरण सिंह, मनीष पंडित, मो. इमरान खान, हिमांशु दीक्षित, शंकर वर्मा, पीयुष कुमार दुबे, अभिजीत सिंह बिशेल, नीरज यादव, सरूपा तिवारी, उमा सिंह, रोली सिंह, विशाल श्रीवास्तव, आयुष त्रिपाठी, मनोज पाण्डेय, आलोक दीक्षित, नितिन तिवारी, गोविन्द कनोजिया, सौरभ अग्रवाल, रूद्र प्रताप वाजपेयी व उत्तर पोरवाल, मुकेश मिश्रा सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। मंच का संचालन आरजे प्रदीप कुमार शुक्ला ने किया।