पवनसुत की अगुवाई में चार घोड़े के रथ पर विराजमान होकर निकलेंगे भगवान जगन्नाथ

लखनऊ। डालीगंज स्थित श्री माधव मंदिर वार्षिक उत्सव में श्री जगन्नाथ महोत्सव कार्यक्रम की तैयारी अपने अंतिम चरणों पर चल रही है। संस्थान महामंत्री अनुराग साहू ने बताया कि इस बार रथ यात्रा पुरी के तर्ज पर किया गया है जिसमें भगवान जगन्नाथ के श्री विग्रह जगन्नाथ पुरी से लाकर के प्राण प्रतिष्ठा पूजन करने के बाद श्री भगवान को नगर भ्रमण पर निकल जाएगा। इस बार भगवान जगन्नाथ जी का रथ आकर्षण का केंद्र रहेगा।

शाम 4:30 बजे से श्री जगन्नाथ में सुभद्रा बाय बलदेव भगवान के महाआरती करके छप्पन भोग प्रसाद लगाया जाएगा, फिर श्री भगवान को रथ पर विराजमान होकर नगर भवन पर निकलेंगे। रथ से प्रसाद में जामुन, मौसमी फल, बूंदी प्रसाद का वितरण किया जाएगा। जगन्नाथ जी रथ यात्रा माधव से प्रारम्भ होकर नजीरगंज, शंकरनगर, निरालानगर, श्रीकृष्ण मठ, आई टी चौराहा, बाबूगंज, फैज़ाबाद रोड, इक्का अड्डा, डालीगंज पुल, होते हुए डालीगंज बाजार, हसनगंज कोतवाली, माधव मंदिर चौराह पर सम्पन्न होगी। रथयात्रा में भक्त झाड़ू लगाकर अपनी सेवा देगे।

गंगा आरती के तर्ज पर होगी श्री जगन्नाथ आरती

उपाध्यक्ष ओमकार जयसवाल ने बताया कि इस बार शहर में पहली बार डालीगंज स्थित अतुल अग्रवाल चौराहा पर पांच मंचो पर वाराणसी से पधारे आचार्यों द्वारा महाआरती किया जाएगा। महामंत्री अनुराग साहू ने बताया कि इस बार भगवान जगन्नाथ रथ महोत्सव में बाहर से कलाकार अपनी सेवा में वृन्दावन का मयूर नृत्य, उज्जैन की प्रभात फेरी में धमरू व शंख ध्वनि से स्वागत, मुम्बई गणपति उत्सव का बैंड तथा दस पंजाबी ढोल बजाकर यात्रा में अपनी सेवाए तथा वानर सेवा के जय श्री राम के जयकारे लगते चलेगे।

रथ यात्रा में आये हर भक्त को जामुन, मीठे चावल, बूंदी प्रसाद स्वरूप वितरित की जाएगी। यात्रा में सबसे आगे 15फ़ीट हनुमान रथ यात्रा की अगुवायी करते चलेगी। भजन गायक पवन मिश्र भी यात्रा के दौरान भजनो की वर्षा करेंगे। इस्कॉन ब्रह्मचारी प्रभु द्वारा संकीतन हरे कृष्ण हरे कृष्ण….महामंत्र एवं जय जगन्नाथ जय जगन्नाथ…. एवं हरि नाम संकीर्तन की वर्षा करेगे। 

56प्रकार के भोग स्वाद चखेगे

रथ यात्रा के मार्ग के पांच मुख्य स्थानों पर सेब, केला, अंगूर, आम, काजू, पिस्ता, बादाम, तीस से अधिक प्रकार की मिठाईयो का भोग लगाया जाएगा।