Tuesday , July 16 2024

इस क्लीनिक में ट्रांसजेंडर पा सकेंगे स्वास्थ्य लाभ, होगा रोजमर्रा की दिक्कतों का भी समाधान

सबरंग क्लीनिक से अधिकतम ट्रांसजेंडर को जोड़ने का निर्देश


• यूपी स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी के सहयोग से उत्तर भारत में पहली बार किया गया अनूठा प्रयास

लखनऊ। ट्रांसजेंडर की जिंदगी में खुशी के रंग भरने के लिए उनको समर्पित स्वास्थ्य क्लीनिक लखनऊ में खोली गई है। ट्रांसजेंडर समुदाय विशेष के लिए उत्तर भारत में यह पहली ऐसी क्लीनिक है। लखनऊ में ठाकुरगंज के पास तहसीनगंज में यह क्लीनिक खोली गई है, जिसमें ट्रांसजेंडर को न सिर्फ स्वास्थ्य लाभ मिलेगा ब्लकि उनकी रोजमर्रा की दिक्कतों का भी समाधान होगा। इस क्लीनिक का नाम रखा गया है सबरंग क्लीनिक।

यूपी स्टेट एड्स नियंत्रण सोसाइटी (यूपीसैक्स) के सहयोग से स्वयंसेवी संस्था वाई.आर.जी. केयर द्वारा किए गए इस प्रयास का ट्रांसजेंडर समुदाय को खूब फायदा मिलेगा। सोसाइटी के अपर परियोजना निदेशक डॉ हीरालाल ने वर्चुअल मीटिंग में अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में बताया कि इस क्लीनिक में ट्रांसजेंडर स्वास्थ्य परामर्श और यौन रोग उपचार करा सकेंगे। इसके अलावा प्रशिक्षित काउंसलर से मानसिक स्वास्थ्य परामर्श भी मिलेगा। उन्हें दवाएं भी निःशुल्क मिलेंगी। उन्होंने बताया कि संस्था और जिलों में भी इसी तरह की क्लीनिक खोलने का इरादा रखती है। प्रदेश स्तरीय वर्चुअल मीटिंग को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस क्लीनिक का ज्यादा से ज्यादा प्रचार करने की जरूरत है ताकि हर ट्रांसजेंडर को इसके बारे में पता हो और वह वक्त पर क्लीनिक का उपयोग कर सके।

वाई.आर.जी. केयर की नेशनल प्रोग्राम मैनेजर डॉ संध्या कृष्णन ने क्लीनिक की उपयोगिता के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि इस क्लीनिक में ट्रांसजेंडर अपना आधार कार्ड बनवा और अपडेट कर सकते हैं। इसके अलावा उन्हें सामाजिक कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने, उनका ट्रांसजेंडर पोर्टल में पंजीकरण व आई. डी. कार्ड बनाने और बैंक खाता खुलवाने जैसी आम जरूरतों में भी सहयोग किया जाएगा। बैठक में तेलंगाना की ट्रांसजेंडर स्वास्थ्य विशेषज्ञ रचना मुदराबोनिया ने एचआईवी और एड्स के बारे में विस्तार से बताया। बैठक का संचालन मनीषा ने किया।