Wednesday , May 29 2024

लखनऊ कौशल महोत्सव में उमड़ी भीड़, 112 कंपनियों ने किया प्रतिभाग

युवाओं को अप्रेन्टिसशिप और रोज़गार के अवसर देने के लिए लखनऊ में आयोजित हुआ ‘कौशल महोत्सव’

पोर्टल पर 26000 रजिस्ट्रेशन हुए 

एक दिन में 3500 से अधिक उम्मीदवारों का हुआ इंटरव्यू

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की क्षेत्रीय स्तर पर युवाओं के लिए रोजगार बढ़ाने की प्रतिबद्धता के अनुरूप, कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय (एमएसडीई) के तत्वाधान में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) के सहयोग से कॉल्विन तालुकदार कॉलेज में दो दिवसीय कौशल महोत्सव का शनिवार को आगाज हुआ। केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की प्रेरणा से इस बार लखनऊ में कौशल महोत्सव का आयोजन किया गया है। एक दिन में 3500 से अधिक उम्मीदवारों का इंटरव्यू लिया गया और कल भी यह नियुक्ति प्रतिक्रिया जारी रहेगी।

लखनऊ कौशल महोत्सव का उद्घाटन भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने दीप प्रज्वलन के साथ किया। कौशल महोत्सव में उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक, श्रम एवं रोजगार मंत्री अनिल राजभर, व्यावसायिक शिक्षा कौशल विकास राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, भाजपा नेता नीरज सिंह, भाजपा लखनऊ महानगर उपाध्यक्ष आनंद द्विवेदी, लखनऊ उत्तर के विधायक डा. नीरज बोरा और निवर्तमान महापौर संयुक्ता भाटिया भी शामिल हुईं। नीरज सिंह ने मंच पर विराजित सभी मुख्य अतिथियों का अंगवस्त्र से सम्मान किया।

एनएसडीसी के सीईओ एनएसडीसी इंटरनेशनल के एमडी वेद मणि तिवारी, एमएसडीई के सचिव अतुल कुमार तिवारी और एनएसडीसी के एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट डॉ. मनीष मिश्रा ने भी कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। 

कौशल महोत्सव के उद्घाटन अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने कहा कि,”हमारी युवा शक्ति जब रचनात्मक कार्यों में सलंग्न होती है तभी प्रदेश और देश की प्रगति होती है। प्रदेश के विकास के लिए हमें सामूहिक रूप से कार्य करना होगा। लखनऊ कौशल महोत्सव में आई हुई बड़ी कंपनियाँ, युवाओं को जॉब के बेहतर अवसर प्रदान करेंगी। उत्तर प्रदेश के युवा इन कंपनियों के अनुभव और कार्य-संचालन द्वारा सीखकर, राष्ट्रनिर्माण के लिए कार्य करेंगे और अपने कौशल को बेहतर करेंगे।” इस अवसर पर उन्होंने कौशल महोत्सव में आए हुए युवाओं को भविष्य के लिए शुभकामनाएँ भी दीं। 

कौशल महोत्सव के उद्घाटन अवसर पर उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि “अटल जी ने लखनऊ के लिए जो स्वप्न देखा था वह केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के मार्गदर्शन में पूरा हो रहा है। इंटरमीडिएट करने के बाद हर युवा के सामने रोजगार की चुनौती होती है लेकिन आज युवाओं को कौशल विकास के माध्यम से रोजगार की मुख्यधारा में लाया जा रहा है। इस कौशल महोत्सव के द्वारा लखनऊ के युवाओं को रोजगार से सीधे जुड़ने का अवसर मिलेगा।” उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हुए कहा कि उनके नेतृत्व में देश के युवाओं का कौशल विकास अतुलनीय है।

कौशल महोत्सव के अवसर पर उत्तर प्रदेश के व्यावसायिक शिक्षा और कौशल विकास मंत्री कपिल देव अग्रवाल ने कहा कि “आत्मनिर्भर भारत का सपना तभी साकार होगा जब हर युवा के पास स्किल होगा।” उन्होंने कहा कि “हमारा मंत्रालय लगातार कौशल विकास योजनाओं से युवाओं को जोड़ रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वोकल फॉर लोकल के विजन को लेकर हमें आगे बढ़ना होगा। युवाओं को कौशल प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोड़ना होगा।”

कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय के सचिव अतुल कुमार तिवारी ने कहा कि “रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की प्रेरणा व केंद्रीय शिक्षा व कौशल विकास मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के कुशल नेतृत्व में इस बार हमने लखनऊ में कौशल महोत्सव का आयोजन किया है। इस कौशल महोत्सव के द्वारा युवाओं और एम्प्लॉयर से जुड़ने का एक बेहतर अवसर मिल रहा है। इस कौशल महोत्सव के द्वारा हम युवाओं को अप्रेंटिस, रोजगार और काउंसलिंग के अवसरों के साथ जोड़ रहे हैं।” उन्होंने यह भी कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत कौशल और शिक्षा को साथ लाने के प्रयास किए गए हैं। हमारे देश को शिक्षा एवं कौशल विकास दोनों चाहिए और हमें कौशल विकास की गुणवत्ता पर अधिक ध्यान देना है।

इस दो दिवसीय भव्य लखनऊ कौशल महोत्सव में ऑटोमोटिव, लॉजिस्टिक्स, प्रोडक्शन, इलेक्ट्रॉनिक्स, अपैरल और टूरिज्म जैसे 20 से अधिक सेक्टर्स की भागीदारी हो रही है। पोर्टल पर लगभग 26000 रजिस्ट्रेशन हुए है। इस कौशल महोत्सव में L&T कंस्ट्रक्शन, अपोलो होम केयर, जेबीएम, एचडीबी फाइनेंशियल, एचडीएफसी लाइफ इन्श्योरेन्स, वेलस्पन, बारबेक्यू नेशन जैसी 112 बड़ी कम्पनियां भाग ले रही हैं। कौशल महोत्सव के पहले दिन हजारों की संख्या में उम्मीदवार कौशल महोत्सव में पहुँचे। इन्टरव्यू प्रक्रिया के दौरान, प्रत्येक उम्मीदवार को कंपनियों के साथ बातचीत के लिए रजिस्ट्रेशन स्लिप दी गईं और चयन के बाद लगभग अनेक उम्मीदवारों को इन कॉर्पोरेट्स द्वारा ऑफर लेटर दिए गए। 

कौशल महोत्सव के उद्घाटन अवसर पर उत्तर प्रदेश सरकार में श्रम एवं रोजगार मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि “भारत आज सबसे युवा देश है। युवा शक्ति हमारी ताकत है। आज हमारे युवा प्रदेश को आत्मनिर्भर बना रहे हैं। उत्तर प्रदेश के हर युवा को हम रोजगार देने का संकल्प लेकर आगे बढ़ रहे हैं। इस संकल्प को सिद्धि तक पहुंचाने का कार्य हमारे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कुशल नेतृत्व में किया जा रहा है।”

लखनऊ कौशल महोत्सव को आयोजित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले भाजपा नेता नीरज सिंह ने कहा कि, “लखनऊ की इस धरा पर कौशल महोत्सव का आयोजन करने का विचार एक युवा के विज़न से आया है। इस रोजगार मेले में 112 कंपनियाँ आई हैं। इस अवसर पर उन्होंने केन्द्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और शिक्षा एवं कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने यह भी कहा कि इस तरह के आयोजन प्रदेश के युवाओं के लिए बड़े अवसर लेकर आ रहे हैं।

कार्यक्रम के स्वागत भाषण में एनएसडीसी के सीईओ और एनएसडीसी इंटरनेशनल के एमडी वेद मणि तिवारी ने सभी अतिथिगणों का स्वागत किया और कहा कि “कौशल महोत्सव के द्वारा हम देश के हजारों युवाओं को कौशल विकास योजनाओं के साथ जोड़ रहे हैं। युवाओं को काउंसलिंग के अवसर भी दिए जा रहे हैं। इस कौशल महोत्सव में उत्तरप्रदेश के युवाओं को 112 कंपनियों में रोज़गार के बड़े अवसर मिलने वाले है। युवाओं को इस कौशल महोत्सव का अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए और हम अधिक से अधिक युवाओं को कुशल बनाने के लिए निरंतर प्रयासरत है”।

युवाओं में कौशल विकास के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कई सेक्टर स्किल काउन्सिल्स (एसएससी) और कंपनियों ने एक स्किल एग़्जिबिशन के माध्यम से अपनी अनेक पेशकश की। उम्मीदवारों को अपने करियर को आकार देने के लिए एक फ्री साइकोमेट्रिक टेस्ट और ग्रुप काउन्सिलिंग में भाग लेने का अवसर भी मिला। इस कार्यक्रम में विशेषज्ञों, प्रेरक वक्ताओं और कैरियर एडवाइजर्स को भी शामिल किया गया, जिन्होंने उम्मीदवारों को उनकी प्रोफेशनल ग्रोथ को बढ़ावा देने में निर्णय लेने में मदद की। जिन उम्मीदवारों को अबतक अवसर नहीं मिले थे, उन्हें kaushalmahotsav.nsdcdigital.org पर रजिस्ट्रेशन करने और उपयुक्त नौकरियों की तलाश जारी रखने के लिए आवेदन करने और ऑनलाइन काउंसलिंग के विकल्प का लाभ उठाने के लिए सूचित किया गया था। कल लखनऊ कौशल महोत्सव के समापन समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपेक्षित हैं।

आशुतोष टंडन (विधायक, पूर्वी विधान सभा), मुकेश शर्मा  (सदस्य, विधान परिषद्), सुभाष चंद्र शर्मा (प्रमुख सचिव तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग, उत्तर प्रदेश), योगेश शुक्ला (विधायक, बख्शी तालाब), डा. नीरज बोरा (विधायक, उत्तरी विधान सभा), अवनीश सिंह (सदस्य, विधान परिषद्), रामचंद्र प्रधान (सदस्य, विधान परिषद्), पवन सिंह (सदस्य, विधान परिषद्), राजेश्वर सिंह (विधायक, सरोजिनी नगर), आनंद द्विवेदी (उपाध्यक्ष, भाजपा लखनऊ), कुलपति लखनऊ विश्वविद्यालय, कुलपति अम्बेडकर विश्वविद्यालय, कुलपति शकुंतला विश्वविद्यालय भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।