Friday , July 19 2024

शहीदों का सम्मान और उनके सपनों को साकार करना हम सभी का कर्तव्य


शहीद मेजर अंशु सक्सेना के बलिदान दिवस पर हुई स्मृति श्रद्धांजलि सभा


लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। राष्ट्ररक्षा में सभी अपना कर्तव्य निभाएं। सैनिकों के शौर्य और पराक्रम से ही देश सुरक्षित है। उक्त बातें शहीद मेजर अंशु सक्सेना के बलिदान दिवस पर कर्तव्या फाउण्डेशन द्वारा आयोजित शहीद स्मृति श्रद्धांजलि सभा में मुख्य वक्ता कमल ज्योति पत्रिका के कार्यकारी एवं प्रबन्ध सम्पादक राजकुमार ने कहीं।

उन्होनें कहा कि देश के लिए अपने प्राण न्योछावर करने वाले शहीदों का सम्मान और उनके सपनों को साकार करना हम सभी का कर्तव्य हैं। हम सभी समाज राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर अपनी समस्त प्रतिभा क्षमता देश के सर्वांगीण विकास में लगाए तभी भारत विकसित राष्ट्र बनेगा।

विशिष्ट अतिथि भाजपा के वरिष्ठ नेता विंध्यवासिनी कुमार ने कहाकि युवा ही राष्ट्र की रीढ़ है। युवाओं में राष्ट्रभक्ति जागृति कर ही राष्ट्र को ऊर्जावान बनाया जा सकता है। शहीद मेजर अंशू सक्सेना ने अपना जीवन देश की सुरक्षा में समर्पित कर दिया। हम सभी देश को सशक्त – समृद्ध बनाने में अपना जीवन लगाएं।

विशिष्ठ वक्ता बाल संरक्षण आयोग की सदस्य डॉ. सुचिता चतुर्वेदी ने कहा कि समाज-राष्ट्र का कार्य करने के लिए प्रबल इच्छा शक्ति की जरूरत होती हैं। इच्छा शक्ति शहीदों के पुण्य स्मरण से ही आता है।


फाउण्डेशन के अध्यक्ष सुभाष चन्द्र अग्रवाल ने युवा पीढ़ी को देश की आशाओं का केन्द्र-बिन्दु बताते हुए उनमें देश प्रेम की भावना भरने तथा मानवता व नैतिक मूल्यों से शिक्षित करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि हमें शहीद मेजर अन्शु सक्सेना से प्रेरणा लेकर अपने कार्य क्षेत्र में प्रमाणिकता से कार्य करते हुए समाज के लिए जीना चाहिए।
शहीद स्मृति सभा में जयति भारत के संरक्षक रविन्द्र नाथ ने शहीद मेजर अंशु सक्सेना के जीवन वृत्त का वर्णन करते हुए कहा कि अंशु सक्सेना ने अपनी माता की इच्छानुसार भारतीय सेना में भर्ती होने का निश्चय किया था। क्योंकि एमए करने के बाद अंशू आईबी और सीडीएस दोनों परीक्षाओं में चयनित हुए थे। कारगिल युद्ध में टाइगर हिल को जीतने में अहम भूमिका निभाई थी । मात्र 36 वर्ष की आयु में कुपवाड़ा में उग्रवादियों से हुए संघर्ष में अंशू शहीद हो गए थे।


कर्तव्या फाउण्डेशन के महासचिव डा. हरनाम सिंह ने फाउण्डेशन के उद्देश्यों को बताते हुए कहा कि शहीद मेजर अंशू सक्सेना के जीवन का अति अल्पकाल युगों तक प्रेरणा पुंज बनकर समाज को प्रकाशित करता रहेगा।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से समाज सेवी मनीष मिश्रा, कृष्ण मोहन, पार्षद अमित चौधरी, राजेश कुमार सिंह, रामहौसला सिंह, केनी लाल चंदानी, जीपी श्रीवास्तव, विंदेश्वरी जायसवाल, रोहित सैनी, देवेश कुमार, एसएस श्रीवास्तव, अतुल राय, अंशुल अग्रवाल, सच्चिदानन्द चतुर्वेदी, संतोष कुमार, सूरज सहित स्थानीय लोगों ने शहीद मेजर अंशु सक्सेना को श्रद्धां सुमन अर्पित किये। सभी को संकल्प दिलाया गया कि शहीद मेजर अंशू सक्सेना से प्रेरणा लेकर देश की सुरक्षा में अपनी प्रतिमा क्षमता समर्पित कर देश को सशक्त – समृद्ध बनाने में अपना जीवन लगाएं।