Monday , July 15 2024

मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य पर पड़ता है स्ट्रेस और डिप्रेशन का असर : स्वामी ध्रुव चैतन्य

छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर स्ट्रेस और डिप्रेशन को दूर रखे : स्वामी ध्रुव चैतन्य

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। काम का प्रेशर और माहौल से तनाव जीवन का हिस्सा बन चुका है। स्ट्रेस और डिप्रेशन का असर मानसिक और शारीरिक दोनों स्वास्थ्य पर पड़ता है, तनाव में रहने पर व्यवहार भी प्रभावित होता है। छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर स्ट्रेस और डिप्रेशन को खुद से दूर भी रखा जा सकता है। यह बातें बृहस्पतिवार को रिंग रोड विकास नगर स्थित एक शोरूम में आयोजित हुई सुबोधानन्द फाउंडेशन के कार्यक्रम में ऋषिकेश से आए स्वामी ध्रुव चैतन्य ने कही।

मिनिमम स्ट्रेस मैक्सिमम आउटपुट विषय पर विचार व्यक्त करते हुए स्वामी जी ने कहा कि आज के बिजी लाइफस्टाइल में अवसाद या तनाव काफी सामान्य हो गया है। सुविधाएं बढ़ी है लेकिन जीवन बेकार हो गया है। प्रार्थना और दूसरो का सम्मान भूलते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब सभी के लिए जीते हैं तो प्रकृति भी हमारा सहयोग करती है। स्वामी जी ने कहा कि जीवन में जब कोई विकल्प न हो तो उसे स्वीकार कर लेना चाहिए। इस मौके पर नीलम बजाज, सोमिन बजाज, स्रजत बजाज, ममता पाण्डेय, अजय शुक्ला समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।