Tuesday , July 16 2024

महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय में ‘स्‍वस्‍थ भारत सप्‍ताह’ 19 जनवरी से

वर्धा (टेलीस्कोप टुडे डेस्क)। महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय में भारत सरकार के ‘स्‍वस्‍थ भारत अभियान’ के तहत विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा ‘स्‍वस्‍थ भारत सप्‍ताह’ का आयोजन 19 जनवरी से किया जाएगा। इस अभियान के अंतर्गत विश्‍वविद्यालय में विभिन्‍न कार्यक्रमों तथा प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा।

अभियान के अंतर्गत 19 जनवरी को पूर्वाह्न 10 बजे कुलपति डॉ. भीमराय मेत्री द्वारा ऑनलाइन ‘स्‍वस्‍थ भारत शपथ’ दी जाएगी। इसके संयोजक चमनलाल प्रवासन एवं डायस्‍पोरा अध्‍ययन विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. राजीव रंजन राय, सह-संयोजक जनसंपर्क अधिकारी बीएस मिरगे एवं सदस्‍य सहायक संपादक डॉ. अमित कुमार विश्‍वास रहेंगे। 24 जनवरी को प्रात: 8 बजे डॉ. श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी भवन में ‘योग और ध्‍यान’ का आयोजन किया जाएगा। इसके संयोजक अंग्रेजी एवं विदेशी भाषा अध्‍ययन विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. रवि कुमार, सह-संयोजक योग प्रशिक्षक नीतू सिंह एवं सदस्‍य उमाशंकर एवं प्रवीण खवशी रहेंगे। 29 जनवरी को प्रात: 07:30 बजे मेजर ध्‍यानचंद स्‍टेडियम पर दौड एवं खो-खो प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। प्रतियोगिता के संयोजक शिक्षा विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. अनिकेत आंबेकर, सह-संयोजक उर्दू साहित्‍य विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. हिमांशु शेखर तथा सदस्‍य सहायक कुलसचिव विनोद वैद्य एवं प्रीति खोडे होंगी। 30 जनवरी को गालिब एवं कस्‍तूरबा सभागार में विद्यार्थियों के लिए ‘विचार सृजन’ प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इसके संयोजक दर्शन एवं संस्‍कृति विभाग के ए‍सोशिएट प्रोफेसर डॉ. जयंत उपाध्‍याय, सह-संयोजक शिक्षा विभाग की सहायक प्रोफेसर डॉ. सारिका राय शर्मा एवं सदस्‍य डॉ. हेमचंद्र ससाने, डॉ. प्रमोद जोशी एवं सहायक कुलसचिव डॉ. राजेश्‍वर सिंह होंगे। प्रतियोगिताओं में सहभागिता करने वाले सभी प्रतियोगियों को प्रमाणपत्र दिया जायेगा तथा क्रमानुसार प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्‍थान प्राप्‍त करने वाले विजेताओं को पुरस्‍कृत किया जायेगा।

कार्यक्रम में सहभागिता करने की अपील कुलसचिव डॉ. धरवेश कठेरिया तथा ‘स्‍वस्‍थ भारत सप्‍ताह’ के संयोजक दर्शन एवं संस्‍कृति विभाग के अध्‍यक्ष डॉ. विपिन कुमार पाण्‍डेय तथा सह-संयोजक जनसंचार विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. संदीप कुमार वर्मा एवं हिंदी साहित्‍य विभाग के सहायक प्रोफेसर डॉ. रूपेश कुमार ने की है।