Sunday , July 14 2024

ठंड और स्मॉग से त्वचा पर पड़ती है दोहरी मार, इन बातों का रखें ख्याल

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे डेस्क)। सर्दियों के मौसम में एक तो गिरता तापमान और प्रदूषण के कारण वातावरण में फैली स्मॉग से आपकी त्वचा पर दोहरी मार का कारण बनती है। सर्दियों में तापमान कम होने से हवा शुष्क हो जाती है, जिससे त्वचा रूखी और बेजान होने लगती है। दूसरी ओर, स्मॉग में मौजूद प्रदूषक त्वचा को नुकसान पहुंचाकर झुर्रियां, दाग-धब्बे और अन्य समस्याएं पैदा कर सकते हैं। स्मॉग केवल बाहरी तौर पर ही नहीं शरीर में अंदरूनी तौर पर भी कई स्वास्थ्य समस्याएं पैदा करता है, जिससे त्वचा भी प्रभावित होती है।

आरोग्यम क्लीनिक की डर्मेटोलॉजिस्ट हिमानी टंडन का सर्दियों में गर्म पानी से नहाने, हीटर और ब्लोअर के इस्तेमाल में सावधानी बरतने की सलाह देती हैं। उनके मुताबिक, “सर्दियों में लोग अक्सर गर्म पानी से नहाते हैं, ब्लोअर्स और हिटर्स का इस्तेमाल करते हैं। इससे त्वचा का प्राकृतिक बैरियर डैमेज हो जाता है व त्वचा और भी ज्यादा रूखी हो जाती है। हीटर या ब्लोअर चलाते समय कमरे में या तो ह्यूमिडीफायर का इस्तेमाल करना चाहिए या एक बड़े बरतन में पानी रख लेना चाहिए। इससे कमरे में आवश्यक नमी बनी रहती है और स्किन को होने वाले नुकसान से बचा जा सकता है। अगर आप गर्म पानी से नहा भी रहे हैं तो बहुत ज्यादा समय के लिए नहीं, जायदा से ज्यादा 4 या 5 मिनट तक ही हल्के गर्म पानी का इस्तेमाल करें।

डॉक्टर हिमानी टंडन कहती हैं, “सर्दियों में बालों का भी कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए। सर्दियों में डिहाइड्रेशन होता है क्योंकि हम लोग कम पानी पीते हैं। इसके अलावा, हवा सूखी होती है जिससे बाल भी थोड़े सूखे हो जाते हैं। इससे बाल कमजोर हो जाते हैं और आसानी से टूट जाते हैं। डिहाइड्रेशन की वजह से बालों की चमक भी कम हो जाती है। इसके अलावा, रूखेपन की वजह से बालों में डैंड्रफ भी बढ़ सकता है।”

डॉक्टरों के मुताबिक यदि स्किन पर सूखापन ज्यादा बढ़ जाए और लगातार खुजली बढ़ जाए तो ऐसे में अपने से कोई इलाज करने के बजाय तुरंत डर्मेटोलॉजिस्ट से सलाह लेकर दवा  का इस्तेमाल करना चाहिए। सर्दियों में त्वचा पर कई तरह की समस्याएं भी हो सकती हैं, जैसे कि मुंहासे, एक्जिमा, सोरायसिस आदि। इन समस्याओं का इलाज क्वालिफाइड डर्मेटोलॉजिस्ट की देखरेख में किया जाना चाहिए। 

इन समस्याओं से बचने के लिए कुछ उपाय निम्नलिखित हैं:

पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं

पानी शरीर को हाइड्रेट रखता है, जिससे त्वचा भी हाइड्रेट रहती है। सर्दियों में कम से कम 2-3 लीटर पानी पीना चाहिए।

सौम्य क्लींज़र का इस्तेमाल करें

सर्दियों में त्वचा बहुत संवेदनशील हो जाती है। इसलिए, सौम्य क्लींज़र का इस्तेमाल करें, जो त्वचा को नुकसान न पहुंचे।

मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करें

सर्दियों में त्वचा को मॉइस्चराइज़ करना बहुत जरूरी है। मॉइस्चराइज़र त्वचा को नमी प्रदान करता है और इसे रूखा होने से बचाता है।

सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें

गर्मियों की तरह सर्दियों में भी सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना जरूरी है। सनस्क्रीन सूर्य की हानिकारक किरणों से त्वचा को बचाता है।

बालों के लिए उपाय

सर्दियों में बाल भी रूखे और बेजान हो जाते हैं। इसके लिए 

बालों को धोने से पहले गर्म पानी का इस्तेमाल न करें। बालों को धोने के बाद कंडीशनर का इस्तेमाल करें। बालों को पॉल्यूशन से बचाने के लिए हेयर मास्क का प्रयोग करें।बालों को धोने के लिए पैराबेन और सल्फेट मुक्त शैम्पू का इस्तेमाल करें।

इन उपायों को अपनाकर आप सर्दियों में अपनी त्वचा और बालों को स्वस्थ रख सकते हैं।