Saturday , February 24 2024

3 दिवसीय प्रदर्शनी का आगाज, आकर्षण का केंद्र बना चांदी का भव्य राम मंदिर व पीएम की मूर्ति

(शम्भू शरण वर्मा)

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण तेज गति से किया जा रहा है। श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अनुसार जनवरी 2024 में मंदिर के गर्भ गृह में प्रभु श्रीराम की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। अगले साल श्रद्धालुओं को विश्व के सबसे दिव्य और भव्य राम मंदिर में रामलला के दर्शन हो सकेंगे। मंदिर के बाहर 8 एकड़ में परकोटा बनाया जा रहा है। जिसका आयताकार 800 गुने 800 मीटर का बताया जा रहा है। वर्ष 2024 में मकर संक्रांति के बाद शुभ मुहूर्त पर प्राण प्रतिष्ठा करने के बाद भक्त भगवान का दर्शन कर सकेंगे। ये मंदिर पूरी तरह से खास है। 500 सालों की प्रतीक्षा के बाद मंदिर का निर्माण हो रहा है। हर राम भक्त को भव्य राम मंदिर का काम खत्म होने का बेसब्री से इंतजार है।

इसी बीच गुजरात के सूरत शहर के डी. खुशालभाई ज्वैलर्स ने चांदी का अनोखा और भव्य राम मंदिर बनाया है। 4 अलग-अलग मंदिरों की प्रतिकृति के वजन और दाम अलग-अलग हैं। ज्वैलरी शॉप के मालिक दीपक चोकसी ने बताया कि राम मंदिर भारतीय संस्कृति की धरोहर है इसलिए हमने सोचा कि इसकी प्रतिकृति हम चांदी में बनाए। दीपक चौकसी ने उम्मीद जताई कि चांदी के राम मंदिर की ये प्रतिकृति लोगों को बहुत पसंद आएगी। उन्होंने कहाकि मंदिर के स्तंभ को बनाने में बहुत मेहनत और सावधानी बरती गई है।

लक्ष्मण नगरी के निरालानगर में स्थित रेगनेंट होटल में लगी डीके डिजाइनर ज्वैलर्स की प्रदर्शनी में चांदी का भव्य राम मंदिर आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। तीन दिवसीय इस प्रदर्शनी का उदघाटन सोमवार को लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने किया। वर्ल्ड फेमस सूरत के डायमंड को प्रमोट करने के लिए लगाई गई इस प्रदर्शनी में पीएम नरेंद्र मोदी की चांदी की मूर्ति भी सभी के आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। इसे भी डी. खुशालभाई ज्वैलर्स ने तैयार किया है। मूर्ति में पीएम नरेंद्र मोदी कुर्ता पायजामा और सदरी पहने हुए है। दीपक चौकसी ने बताया कि 12 जुलाई तक चलने वाली इस प्रदर्शनी में कम दाम में बेहतर क्वालिटी की ज्वैलरी उपलब्ध है। सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यो व सुशासन की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बिजनेस का बेहतर स्कोप है। उन्होंने बताया कि भारत में 10 में से 8 हॉट डायमंड सूरत के होते हैं। जिसको विभिन्न तरीकों से तराशा जाता है और फिर गोल्ड के माध्यम से गोल्ड डायमंड ज्वेलरी के रूप में प्रस्तुत किया जाता है।