Friday , July 19 2024

DRM ने किया अयोध्या एवं अयोध्या कैंट स्टेशनों का गहन निरीक्षण, दिए ये निर्देश

राइट्स के अधिकारियों के साथ अयोध्या कैंट स्टेशन पुनर्विकास की डीपीआर पर विचार मंथन

प्रगतिशील कार्यों सहित स्टेशन पर उपलब्ध व्यवस्थाओं का लिया जायजा

लखनऊ/अयोध्या। उत्तर रेलवे, लखनऊ मण्डल के अत्यंत महत्वपूर्ण स्टेशन अयोध्या एवं अयोध्या कैंट स्टेशनों की आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक महत्ता के कारण प्रतिदिन इन स्टेशनों पर बड़ी संख्या में यात्रियों, श्रृद्धालुओं और पर्यटकों का अयोध्या में आवागमन होता है। इन यात्रियों को उच्चकोटि की यात्री सुविधाएँ उपलब्ध कराने और यात्रियों की सुगम, संरक्षित और सुरक्षित यात्रा को दृष्टिगत रखते हुए इस स्टेशनो पर अनेक विकास कार्य एवं बृहद रेल परियोजनाएं वर्तमान में प्रगति पर हैं।

समस्त विकास कार्यों का जायजा लेने के लिए सोमवार को मंडल रेल प्रबंधक सुरेश कुमार सपरा ने मंडल के अन्य अधिकारियों के साथ अयोध्या एवं अयोध्या कैंट स्टेशन पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अयोध्या एवं अयोध्या कैंट स्टेशन एवं परिसर का गहनता से अवलोकन करते हुए अयोध्या स्टेशन के विकास के तहत प्रस्तावित इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग भवन का निरीक्षण किया। उन्होंने अयोध्या स्टेशन पर नए स्टेशन भवन में  रेलवे सुरक्षा बल एवं राजकीय रेलवे पुलिस कार्यालयों के आवंटन हेतु स्थलों का भी मुआयना किया। इसके अतिरिक्त उन्होंने अयोध्या स्टेशन के निर्माण कार्य में लगी कार्यदायी संस्था RITES के अधिकारियों के साथ अयोध्या रेलवे स्टेशन के द्वितीय प्रवेश द्वार पर होने वाले फेज 2 के निर्माण के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा की।

उल्लेखनीय है कि अयोध्या स्टेशन को अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत सम्मिलित किया गया है जिसके तहत और अधिक यात्री सुविधायें बढ़ाई जायेंगी। उन्होंने यार्ड री-मॉडलिंग एवं रेलपथ दोहरीकरण के अंतर्गत आचार्य नरेन्द्रदेव नगर को हाल्ट स्टेशन के रूप में परिवर्तित किये जाने के सम्बन्ध में यात्री सुविधाओं का विस्तार करने के विषय में संबंधितों को आवश्यक निर्देश पारित किये। स्टेशन री-डेवलपमेंट के तहत अयोध्या कैंट का DPR बनाने का कार्य RITES को दिया गया है। योजनाओ को मूर्त रूप देने के लिए RITES के अधिकारियों के साथ पूरे क्षेत्र का निरीक्षण किया। उन्होंने अयोध्या कैंट स्टेशन पर गुड्स शेड, कोचिंग डिपो एवं निर्माणाधीन वाशिंग लाइन स्थल का भी निरीक्षण किया। मंडल रेल प्रबंधक ने इन समस्त कार्यों को निर्धारित अवधि में उच्च गुणवत्ता के साथ पूरा करने की बात कही  और समयबद्ध एवं संरक्षित रेल परिचालन की प्रतिबद्धता पर विशेष बल दिया। निरीक्षण में मुख्य परियोजना प्रबंधक (गतिशक्ति) वीरेन्द्र सिंह यादव सहित मंडल के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी भी उपस्थित रहे।