सशक्त आर्थिक विकास के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ रही है ग्रोइंगटन वेंचर्स इंडिया लिमिटेड

मुंबई (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। सीए विक्रम बजाज द्वारा प्रवर्तित मुंबई स्थित बीएसई सूचीबद्ध कंपनी ग्रोइंगटन वेंचर्स इंडिया लिमिटेड (बीएसई – 539222) का लक्ष्य आने वाले समय में सशक्त आर्थिक विकास हासिल करना है। कंपनी ने दिसंबर 2023 को समाप्त वित्त वर्ष 2024 की तीसरी तिमाही और नौमाही के लिए उत्कृष्ट वित्तीय परिणाम प्रस्तुत किए हैं। वित्त वर्ष 2024 की नौमाही में कंपनी ने वित्त वर्ष 2023 की नौमाही में अर्जित 9.04 करोड़ रुपए के मुकाबले साल-दर-साल 163 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 23.81 करोड़ रुपए का कुल राजस्व अर्जित किया है। वित्त वर्ष 2024 की नौमाही के दौरान कंपनी का शुद्ध लाभ साल-दर-साल 328 प्रतिशत बढ़कर 1.75 करोड़ रुपये हो गया जो कि गत वर्ष की समान अवधि में 40.88 लाख रुपए था।

नवंबर 2023 में, कंपनी को बीएसई के एसएमई प्लेटफॉर्म से बीएसई लिमिटेड के मैनबोर्ड में स्थानांतरित कर दिया गया। कंपनी को इसके लिए शेयरधारकों की मंजूरी भी मिल गई थी। कंपनी ने 15 जुलाई की बोर्ड बैठक में बीएसई के एसएमई प्लेटफॉर्म से बीएसई लिमिटेड के मैनबोर्ड में कंपनी के इक्विटी शेयरों की लिस्टिंग/ट्रेडिंग के माइग्रेशन को मंजूरी दे दी थी। कंपनी ने इक्विटी शेयर की फेसवैल्यू फुल्ली पेडअप 10 रुपये के मुकाबले फुल्ली पेडअप 1 रुपए कर 1 इक्विटी शेयर को 10 शेयरों में उप-विभाजित कर दिया, जैसा कि 17 जनवरी, 2024 को पोस्टल बैलेट के माध्यम से शेयरधारकों द्वारा अनुमत किया गया। कंपनी ने स्टॉक विभाजन के लिए रिकॉर्ड तिथि के रूप में 31 जनवरी, 2024 तय की थी।

कंपनी ब्रांडनेम ग्रोफामियो के साथ ताजे फलों के आयात एवं वितरण से लेकर होटल और ई-कॉमर्स में कार्यरत कॉर्पोरेट्स तक आपूर्ति श्रृंखला के व्यवसाय में संलग्न है। कंपनी तुर्की, वियतनाम, दक्षिण अफ्रीका, ग्रीस, चिली आदि में खेतों से फलों की सोर्सिंग करके अखिल भारतीय बाजार में ताजे फल परोसने के दृष्टिकोण से पेशेवर रूप से प्रबंधित है। कंपनी की यूएसपी खेतों से ताजे फल प्राप्त करना, मूल्यवान ग्राहकों को सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले फल वितरित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय मानक पैकेजिंग प्रदान करना और त्वरित लॉजिस्टिक सुविधा के साथ गुणवत्ता की जांच कर आपूर्ति करना है। कंपनी ने गुणवत्तापूर्ण फलों द्वारा सद्भावना और ब्रांड विकसित किया है। कंपनी ने ग्रोफामियो नाम से एक ब्रांड स्थापित किया है। कंपनी के पास सेब, संतरा, मंदारिन, नाशपाती, कीवी, ड्रैगन फ्रूट, एवोकैडो, रेड ग्लोब अंगूर, बेर, नेक्टराइन, आड़ू, चेरी, ब्लूबेरी, अंगूर फल, मैंगोस्टीन, राम भूटान, लोंगन, खजूर, इमली, खजूर इत्यादि जैसे फलों का विस्तृत पोर्टफोलियो है। देश के लोगों में स्वास्थ्य जागरूकता और जीवन शैली को ध्यान में रखते हुए एवोकैडो, ब्लूबेरी और ड्रैगन फल जैसे विभिन्न प्रकार के आयातित फलों की मांग बढ़ गई है। कंपनी ने देश के भीतर और बाहर एक अत्यधिक सक्षम, मजबूत खरीद और वितरण सहायता टीम बनाई है।

वर्तमान वित्तीय वर्ष में कंपनी ने एक पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी – एलिमेंटर्स फूडस्टफ ट्रेडिंग एल.एल.सी., दुबई, यू.ए.ई. स्थापित की है। कंपनी तुर्की, वियतनाम और दक्षिण अफ्रीका से ताजे फलों की सोर्सिंग में लगी हुई है। 2024 की पहली तिमाही से कंपनी ने ड्रैगन फ्रूट्स, नारियल, अमरूद, नींबू और अन्य कृषि उत्पादों की नियमित आपूर्ति के लिए वियतनाम स्थित कृषि कमोडिटी कंपनी के साथ व्यवस्था और गठजोड़ किया है। कंपनी ने दीर्घकालिन आधार पर ताजे फल प्राप्त करने के लिए वियतनाम और तुर्की स्थित कंपनी के साथ समझौता किया है। कंपनी वियतनाम की कंपनी के साथ संयुक्त उपक्रम में दीर्घकालीन बिजनेस करने की भी योजना बना रही है। कंपनी ने थोक बाजार, खुदरा स्टोर, होटल, रेस्तरां श्रृंखला और ताजे फलों के ऑनलाइन वितरकों को नियमित आपूर्ति प्रदान करने के लिए देश में नियमित ग्राहक विकसित किए हैं।

व्यवसाय में वृद्धि को ध्यान में रखते हुए, कंपनी प्रबंधन ने एमआईडीसी, नवी मुंबई के पास पट्टे की जमीन पर कोल्ड स्टोरेज इकाई, फल प्रसंस्करण इकाई और पैकेजिंग इकाई की स्थापना करके व्यवसाय विस्तार की योजना बनाई है। कंपनी की अपने ब्रांडनेम के तहत फलों, मसालों के पाउडर के लिए रिलायंस, बिग बास्केट, गोदरेज फ्रेश, मोर, अमेज़ॅन और अन्य जैसी कंपनियों का आपूर्ति श्रृंखला भागीदार बनने की योजना है। वित्त वर्ष 2023 में कंपनी ने कारोबार में कई गुना वृद्धि दर्ज की है। वित्त वर्ष 2023 में कंपनी की बिक्री वित्त वर्ष 2022 में दर्ज बिक्री 1.23 करोड़ रुपए के मुकाबले 19.63 करोड़ रुपये रही थी। वहीं वित्त वर्ष 2023 में कंपनी ने 3 लाख रुपए की शुद्ध हानि के मुकाबले 1.26 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया है।

कंपनी ने कोविड के बाद अच्छा प्रदर्शन किया है और मार्च 2023 में शेयरधारकों को (24:100) के अनुपात में बोनस शेयर प्रदान किए थे। जनवरी 2024 में, कंपनी ने रेजोल्यूशन जारी किया। देबोस्मिता कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, फास्टव्हील रोडलाइन्स प्राइवेट लिमिटेड, फॉरवर्ड कैरियर्स प्राइवेट लिमिटेड, श्रीजिता कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, करुणांजलि ट्रांसपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के साथ यादुका एग्रोटेक प्राइवेट लिमिटेड के समामेलन की योजना के लिए अपने देनदार यादुका एग्रोटेक प्राइवेट लिमिटेड को अपनी सहमति दी है।