Tuesday , July 16 2024

सरदार पटेल बौद्धिक विचार मंच का राष्ट्रीय सम्मेलन 4 फरवरी को, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। सरदार पटेल बौद्धिक विचार मंच की ओर से 4 फरवरी को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में सरदार पटेल और सामाजिक समरसता से जुड़े विभिन्न पक्षों पर राष्ट्रीय बुद्धिजीवी सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि महाराष्ट्र के राज्यपाल रमेश बैस शामिल होंगे।

शुक्रवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में बौद्धिक विचार मंच के महामंत्री जगदीश शरण गंगवार ने बताया कि पटेल समाज की आबादी 12 प्रतिशत से अधिक है। ये ध्यान में रखते हुए सम्मेलन में सभी प्रदेशों के प्रतिनिधि, मुख्य रूप से पूर्व प्रशासनिक अधिकारी, सेना के पूर्व अधिकारी, पूर्व एवं वर्तमान कुलपति, उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति, सांसद, विधानसभा व विधान परिषद सदस्य, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष, सहकारी बैंको के अध्यक्ष, ब्लॉक प्रमुख, जिला पंचायत सदस्य, सभासद, उद्योगपति, अधिवक्ता, शिक्षाविद, वैज्ञानिक, समाजसेवी, समाज के विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि और प्रोग्रेसिव किसानों सहित लगभग 2,000 प्रतिनिधि शामिल होंगे।

पत्रकार वार्ता में अरुण कुमार सिन्हा (सेवानिवृत्त आईएएस, संस्थापक संरक्षक), डॉ. क्षेत्रपाल गंगवार (अध्यक्ष), वीआर वर्मा एवं रविन्द्र सिंह गंगवार (उपाध्यक्ष), उमेश कुमार सिंह (महामंत्री) एवं आरएल निरंजन (कोषाध्यक्ष) व योगेंद्र सचान ने भी अपने विचार व्यक्त किए। वक्ताओं ने बताया कि सम्मेलन में मुख्य रूप से सरदार पटेल और आधुनिक समाज, सामाजिक समरसता, पिछड़ा वर्ग, कृषकों एवं सर्वहारा समाज, रोजगार उन्मुखी जागरुकता, शिक्षा और प्रचलित अनुष्ठान एवं रीति रिवाजों की प्रासंगिकता जैसे विषयों के अलावा समाज के सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक आदि विभिन्न पहलुओं पर विचार होगा। सम्मेलन में किसी राष्ट्रीय मार्ग का नाम सरदार पटेल के नाम पर किये जाने का प्रस्ताव पारित होगा। साथ ही लखनऊ और दिल्ली में पटेल स्मारक बनवाने, हर जिले में सरदार पटेल की प्रतिमा लगाने, समाज में अच्छा कार्य करने वालों को पुरस्कार, बुद्धिजीवी एप और पटेल चेतना रैली आदि पर विचार विमर्श करते हुए आगामी रणनीति तय की जायेगी।

उन्होंने बताया कि सरदार पटेल बौद्धिक विचार मंच का गठन जुलाई 2018 में किया गया था। मंच के मुख्य उद्देश्य समाज को अपने हितों के प्रति जागरुक करना, समाज की विभिन्न समस्याओं से सरकार को अवगत कराना, समाज के विभिन्न सामाजिक संगठनों को एक मंच पर इकठ्ठा करना, संख्या के आधार पर सामाजिक, राजनैतिक, आर्थिक एवं सांस्कृतिक भागीदारी हेतु प्रयास करना, समाज में अधिकाधिक उद्यमी बनाने हेतु लोगों को प्रोत्साहित करना, ग्रामीण अंचलों में पुस्तकालय, वाचनालय एवं इनसे जुड़ी गतिविधियों का संचालन कराना हैं। उक्त उद्देश्यों की पूर्ति के लिए मंच द्वारा विभिन्न कार्यकम आयोजित किये जा चुके हैं। विचार मंच द्वारा बुद्धिजीवी चिंतन शिविर, सरदार पटेल एवं ग्राम्य विकास कार्यक्रम, पंचायत प्रतिनिधि प्रशिक्षण एवं सम्मान समारोह, जनप्रतिनिधि सम्मान समारोह, सामाजिक चिंतन‌ शिविर, अपनों से मिलिए, सरदार  सम्मान समारोह और प्रतिभा सम्मान समारोह कार्यक्रम भी आयोजित किये जा चुके है। उक्त कार्यक्रमों की कड़ी में ही 4 फरवरी का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा हैं।