Tuesday , July 16 2024

भारत हस्तशिल्प महोत्सव 20 जनवरी से, दिखेगा भव्य अयोध्या का दिव्य नजारा

घर-घर पधारो भगवान राम के थीम पर आधारित होगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के तत्वावधान में 20 जनवरी 2024 से 05 फरवरी तक 17 दिवसीय ‘भारत हस्तशिल्प महोत्सव-2024’ का आयोजन कांशीराम स्मृति उपवन, आशियाना लखनऊ में किया जा रहा है। जिससे पूर्व शुक्रवार को श्री रामचरितमानस अखंड पाठ आरंभ हुआ। जिसका समापन 20 जनवरी को दोपहर 2 बजे होगा। इस विशेष अवसर पर श्री जगनाथ पुरी धाम के मुख्य पुजारी की गरिमामयी उपस्थिति रहेगी। आरती, हवन, प्रसाद वितरण के उपरांत भारत हस्तशिल्प महोत्सव आरंभ होगा।

आयोजन समिति के अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह ने बताया कि भारत हस्तशिल्प महोत्सव में इस बार घर घर पधारो राम की थीम पर समर्पित होगा। प्रथम दिन 20 जनवरी से ही पूरे महोत्सव को अयोध्या धाम की तर्ज पर राममय बनाया जाएगा। महोत्सव के माध्यम से देशवासियो को यह संदेश दिया जाएगा कि 22 जनवरी को अपने अपने घरों में राम मन्दिर को सजाए और पूजा अर्चना करें।

28 राज्यों उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, महाराष्ट्र, उत्तराखण्ड, पंजाब, ओडिशा, मध्य प्रदेश, गुजरात, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, हिमांचल प्रदेश, हरियाणा, गोवा, छत्तीसगड, आंध्रप्रदेश, असम, मेघालय, मणिपुर, तमिलनाडु एवं 8 केन्द्र शासित प्रदेशों अण्डमान निकोबार, दादर नगर हवेली, दमन और दीव, लक्ष्यद्वीप, चंडीगड़, दिल्ली और पांडिचेरी की कला संस्कृति, पर्यटन, हस्त शिल्प, देशी उत्पाद, वस्त्र, फर्नीचर, मसाले, हैण्डलूम हैण्डी क्राफ्ट, आटोमोबाइल, बैंकिंग के स्टाल आकर्षण का केन्द्र होंगे।

उन्होने बताया कि भारत हस्तशिल्प महोत्सव में केंद्र सरकार के वस्त्र मंत्रालय हैण्डीक्राफ्ट, संस्कृति विभाग उत्तर प्रदेश, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग उ.प्र. और नाबार्ड की सहभागिता के साथ उत्तर प्रदेश सरकार के हस्तशिल्प विपणन प्रोत्साहन योजना भी फलीभूत होगी।

विनोद कुमार सिंह ने बताया कि 17 दिवसीय भारत हस्तशिल्प महोत्सव में निःशुल्क भारत टैलेण्ट हण्ट-2024 का आयोजन किया जायेगा। इसके तहत बच्चों व युवाओं की गायन, नृत्य, वादन, किड्स मॉडलिंग, मेंहदी, रंगोली, कबाड़ से जुगाड़, सिलाई, चित्रकला, निबंध लेखन, साइकिल रेस, खो-खो, कबड्डी, मिस्टर मिस और मिसेज भारत प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा।

प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के उपाध्यक्ष एनबी सिंह ने बताया कि महोत्सव में भारत के 28 राज्यों और 8 केन्द्र शासित प्रदेशों के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देने वाली अनेक विभूतियों को भारत हस्तशिल्प महोत्सव सम्मान से सम्मानित किया जायेगा, जिसमें सभी वर्गों को शामिल किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि भारत हस्तशिल्प महोत्सव में बच्चों और युवाओं के लिए इस बार विशेष तरह के झूलों के साथ सर्कस की भी व्यवस्था की गई है। पूरे महोत्सव परिसर और परिसर के बाहर सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे लगाये जायेगे। महोत्सव के सभी प्रवेश द्वारों पर मेटल डिटेक्टर और सुरक्षा गार्डों द्वारा सघन जांच के बाद ही लोगों को प्रवेश की अनुमति होगी। इसके अलावा महोत्सव स्थल पर अस्थाई पुलिस चौकी भी प्रशासन के सहयोग से होगी।