Monday , July 15 2024

उत्तरीय रेलवे मजदूर यूनियन : पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। सम्पूर्ण केन्द्रीय कर्मचारियों व राज्य कर्मचारियों के भविष्य को संवारने के लिए तथा बुढ़ापे को सुरक्षित करने के उद्देश्य से नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवेमेन के महामंत्री डा. एम. राघवैया चेयरमैन ने नई पेंशन स्कीम को रद्द कर पुरानी पेंशन स्कीम को पुनः लागू कराने आदि अन्य मांगो को लेकर यह फैसला लिया कि सम्पूर्ण भारत वर्ष में शाखा/मण्डल स्तर पर क्रमिक अनशन किया जाएगा। जिससे सरकार की कुंभकणी नींद को तोड़ा जा सके। इस फैसले के तहत उत्तरीय रेलवे मजदुर यूनियन ने सभी शाखा/मण्डल स्तर पर क्रमिक अनशन आयोजित करने का निर्णय लिया। जिसमें युवा कर्मचारियों के साथ-साथ वरिष्ठ कर्मचारियों का भी पूरा सहयोग मिल रहा है। मण्डल उपाध्यक्ष शशांक सिंह ने बताया कि इसी कड़ी में कैरिज वर्कशाप आलमबाग के गेट पर क्रमिक अनशन आलमबाग वर्कशाप शाखा, विद्युत शाखा तथा भण्डार शाखा द्वारा किया जा रहा है। अजय कुमार दुबे (शाखा सचिव) ने बताया कि को कैरिज वर्कशाप गेट पर विशाल जनसभा में कर्मचारियों ने पहुँचकर अपनी माँगो के लिए एकजुटता का प्रदर्शन किया। सभा का संचालन शाखा सचिव अरविन्द सिहं ने किया। जिसमें उन्होंने नई पेंशन योजना तथा पुरानी पेंशन योजना की तुलनात्मक व्याख्या की। साथ ही कोविड काल की फीज डीए की तीनों किश्तों को शीघ्र भुगतान कराने का आग्रह भी किया। सभा की अध्यक्षता मण्डल अध्यक्ष विनोद श्रीवास्तव ने की। जगदम्बा तिवारी (केन्द्रीय उपाध्यक्ष, यूआरममयू) अजय दुबे (सहा. महामंत्री), राजेश सैनी (शाखा सचिव), परमानन्द (उपाध्यक्ष) आदि ने अपने विचार रखे। तेज बहादुर सिंह (शाखा अध्यक्ष) अपने सभी पदाधिकारियों के साथ उपस्थित रहे। सभा में युवा साथी अंशुल यादव, रामऔतार तथा अरविन्द अवस्थी ने भी अपने विचार रखे कि क्यों पुरानी पेंशन योजना आवश्यक है।

मुख्य माँगे बताते हुए उन्होंने कहा कि नई पेंशन स्कीम को समाप्त कर पुरानी पेंशन स्कीम को लागू किया जाए। मंहगाई भत्ते की रुकी हुई तीनों किश्तों का भुगतान शीघ्र किया जाए। सन् 2026 तक रिपोर्ट देने के लिए आठवें वेतन आयोग या वेज रिव्यु कमेटी का गठन शीघ्र किया आए।