Monday , July 15 2024

अदभुत छटा बिखेर 17 दिवसीय 16वें यूपी महोत्सव ने ली विदाई

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट द्वारा पोस्टल ग्राउंड अलीगंज में आयोजित 17 दिवसीय 16वें यूपी महोत्सव ने अदभुत छटा बिखेरने के साथ ही पुनः मिलने का वादा कर मंगलवार को विदाई ली। पर्यावरण, स्वरोजगार, महिला सशक्तिकरण, साहित्य, कला, विज्ञान, प्रदूषण, लोक संस्कृति, नृत्य और लोक गायन के अनेकों कार्यक्रम महोत्सव के मंच से देखने को मिले।

प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह द्वारा पिछले 20 वर्षों से ज्यादा समय से पर्यावरण, स्वरोजगार, नारी सशक्तिकरण, शिक्षा, नशा उन्मूलन आदि जैसे कार्यक्रमों को बढ़ावा देने की दिशा में अनवरत प्रयास किया जा रहा है। ट्रस्ट के सभी आयोजनों में अतिथियों को मंच से एक पौधा देकर ही सम्मानित किया जाता है।

16वें यूपी महोत्सव के भव्य समापन समारोह में मंगलवार को बतौर मुख्य अतिथि मौजूद भाजपा एमएलसी मुकेश शर्मा का स्वागत ट्रस्ट के अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह व उपाध्यक्ष एनबी सिंह ने पौधा एवं प्रतीकात्मक राम मंदिर का मॉडल देकर किया। इस दौरान पार्षद मान सिंह यादव भी मौजूद रहे। मुख्य अतिथि ने कहाकि विगत सोलह वर्षों से लग रहे यूपी महोत्सव में सही मायने में दूर दराज से आए दुकानदारों को लाभ मिल रहा है। ओडीओपी योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा केंद्र में भी लागू कर दिया गया है। अब इस योजना का लाभ देश के हर जिले में प्राप्त हो रहा है।

यूपी महोत्सव की पूर्व संध्या पर आयोजित हुए मिस्टर एंड मिस यूपी का परिणाम घोषित किया गया। मिस यूपी में विनर प्रज्ञा पांडे, फर्स्ट रनर अप तन्वी और सेकंड रनर अप बिन्नी रहीं। वहीं मिस्टर यूपी में विनर पुष्पेंद्र बाजपेई, फर्स्ट रनर अप क्षितिज गुप्ता और सेकंड रनर अप जारुन रहे। जज की भूमिका प्रिया दुबे, हेमा खत्री और अभिलाष सिंह ने निभाई।

यूपी महोत्सव में इस बार सांस्कृतिक कार्यक्रमों में कवि सम्मेलनों का बोलबाला रहा, जिसमें ज्यादातर प्रस्तुतियां भगवान श्रीराम को समर्पित रहीं। युवा एवं श्रेष्ठ कवियों द्वारा कविता पाठ किया गया, प्रतिदिन साहित्य एवं उनसे जुड़ी विधाओं पर परिचर्चा हुई। कहते हैं साहित्य, संगीत और कलाओं का आपस में बहुत ही गहरा रिश्ता होता है और यही सब जब एक मंच पर एकत्रित हो जाए तो उस मंच की शोभा और बढ़ जाती है। यूपी महोत्सव के मंच पर ऐसा ही हुआ।

यूपी महोत्सव में देश के कई राज्यों के उत्पाद और उनसे जुड़ी वस्तुओं का स्टॉल दिखाई दिया। दर्शकों ने स्टॉल पर खरीदारी में बहुत दिलचस्पी दिखाई। अमेरिकन भुट्टा का स्वाद लोगों ने खूब लिया, बेहतरीन झूले जैसे टोरा–टोरा रेंजर, डबल डिस्क नाव झूला, ब्रेक डांस ने बच्चों और युवाओं को बहुत लुभाया। महोत्सव के खास चटोरे लाल की चटपटी भेलपुरी ने दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित किया। आपनो राजस्थान के दाल बाटी चूरमा, मूंग का हलवा, मारवाड़ी स्पेशल कुल्फी और भी बहुत सारे व्यंजनों लुत्फ भी लोगो ने उठाया। इनके साथ ही जम्मू कश्मीर के उत्पाद और कई राज्यों के आए हुए रजाई, कंबल, चादर और विशेष रूप से भदोही की कालीनों ने महोत्सव में लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा। इंक्रेडिबल आर्ट के उत्पाद आकर्षण के केंद्र बिंदु रहे। महोत्सव में फर्नीचर के समान खूब बिके।  

संस्था के उपाध्यक्ष एनबी सिंह ने यूपी महोत्सव को अविस्मरणीय और सफल बताते हुए, भारी संख्या में उमड़ी जनता और ठंड के मौसम में दूर दराज से आय दुकानदारों को बधाई दी। उन्होंने कहाकि सभी के प्रयास और दृढ़ता से ही महोत्सव सफल हो सका।