Sunday , December 3 2023

लक्ष्मणनगरी पहुंचे रामलीला पर आधारित फिल्म ‘मंडली’ के कलाकार

रामलीला के कलाकारों के इर्द गिर्द घूमती कहानी है फ़िल्म “मंडली”

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। नवरात्रि व विजयादशमी के पावन मौके हर तरफ रामलीलाओं का मंचन हो रहा है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के चरित्र को जीवन में उतारने व वर्तमान समय में उनके चरित्र को दिखाने की उत्सुकता कलाकारों में साफ नजर आ रही है। रामलीला में कलाकार अलग-अलग पात्रों को खूबसूरती से प्रस्तुत करते हैं। लेकिन क्या आपको मालूम है कि अधिकांश जगह मंच पर इन मुस्कुराते चेहरों के पीछे शोषण और पीड़ा होती है। फिल्म ‘मंडली’ रामलीला में अभिनय करने वाले कलाकारों को केंद्र में रखकर बनाई गई है। इसमें पर्दे के पीछे इन कलाकारों के साथ हो रहे शोषण पर चर्चा की गई है। इस फिल्म में इन कलाकारों के दर्द को बखूबी बयान किया गया है।

आगामी 27 अक्टूबर को सिनेमाघरों रिलीज होने के लिए तैयार इस फिल्म में अभिनेता रजनीश दुग्गल, अभिषेक दुहान, आंचल मुंजाल और बृजेंद्र काला मुख्य भूमिका में है। फिल्म का निर्देशन ‘पैडमैन’ और ‘केसरी’ जैसी बड़ी फिल्मों में अभिनय कर चुके राकेश चतुर्वेदी ‘ओम’ ने किया है। रामलीला की थीम पर बनी फिल्म ‘मंडली’ के प्रमोशन के लिए कलाकार सोमवार को लक्ष्मण नगरी पहुंचे। एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में राज्यसभा सांसद व पूर्व डिप्टी सीएम डा. दिनेश शर्मा ने फ़िल्म के सांग का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि लखनऊ उपलब्धियों का शहर है, ऐतिहासिक धरोहरों का पड़ाव है। कलाकार रामलीला के जीवंत भाव का बखूबी मंचन करते है। फ़िल्म को फ़िल्म की तरह बनाने के लिए उसमें रंगना पड़ता है। उन्होंने कहा कि फ़िल्म केवल सामाजिक परिवर्तन के लिए नहीं होती है बल्कि कई लोगों का व्यक्तिगत परिवर्तन भी कर देती है। मुझे पूरी उम्मीद है कि मंडली फ़िल्म के साथ ही इसके गाने व एक्टर भी सुपरहिट होंगे।

फिल्म के विषय को लेकर निर्माता प्रशांत बताते हैं कि फिल्म की कहानी कुछ ऐसे कलाकारों के इर्द-गिर्द घूमती है जो रामलीला मंडली में काम करते हैं। धर्म ग्रन्थ रामायण के किरदारों को कलाकार मंडली अपनी कला से समाज के बीच प्रदर्शित करती है। फिल्म के विषयवस्तु में रामायण में आस्था, समाज के शक्तिशाली लोगों के बीच संघर्ष और दर्शकों के आकर्षण को बनाने के लिए अश्लील नृत्यों का समावेश व्यक्तिगत लाभ के करने पर केंद्रित है। जहां रामलीला में पर्दे के पीछे का शोषण भी है तो दूसरी ओर फिल्म ‘मंडली’ शक्ति और विश्वास को दर्शकों के सामने लेकर आती है।

उन्होंने बताया कि फिल्म में वर्तमान परिवेश में रामलीला में होने वाले फूहड़ नृत्यों को रोकने का संदेश दिया गया है। फिल्म का कथानक पारिवारिक व सामाजिक मूल्यों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है।

रेल्टिक पिक्चर्स के बैनर तले बनी इस फिल्म को प्रशांत कुमार गुप्ता, गीतिका गुप्ता और नीटू सबरवाल ने निर्माण किया है। फिल्म में विनीत कुमार, कंवलजीत सिंह, अलका अमीन, अश्वथ भट्ट, सहर्ष शुक्ला और नीरज सूद जैसे कलाकार भी रामलीला के मंच के पीछे के परदे को उठाते नजर आएंगे।