Saturday , February 24 2024

Tata Tea Premium : ‘देश के धागे’ अभियान संग मना रहा स्वतंत्रता दिवस का जश्न

एजेंसी (टेलीस्कोप टुडे डेस्क)। टाटा टी के विविधतापूर्ण पोर्टफोलियो का प्रमुख ब्रांड टाटा टी प्रीमियम स्वतंत्रता दिवस के लिए अपनी #DeshKaGarv पहल के ज़रिए भारत और यहां की कला, संस्कृति और विरासत का जश्न मना रहा है। पिछले साल टाटा टी प्रीमियम ने भारत के स्वतंत्रता के बाद के 75 वर्षों की यात्रा के महत्वपूर्ण क्षणों का जश्न मनाया था। इस साल टाटा टी प्रीमियम ने अपने ‘देश के धागे’ अभियान के ज़रिए देशवासियों को देश के गौरव के रंगीन और खूबसूरत सफर पर ले जाने की योजना बनाई है। ‘देश के धागे’ अभियान में टाटा टी प्रीमियम भारत की समृद्ध हैंडलूम्स विरासत को सम्मानित कर रहा है।

क्षेत्रीय गौरव के सार को दर्शाते हुए, टाटा टी प्रीमियम ने उत्तर प्रदेश के लिए बनाया हुआ विशेष पैक शानदार बनारसी सिल्क के डिज़ाइन से सजा है। बेजोड़ रेशमी फैब्रिक, ज़री, ब्रोकेड के काम, हाथों से की गयी कारीगरी और पारंपरिक मोटिफ्स से सजी बनारसी सिल्क साड़ियां दुल्हन के परिधान में होना अत्यावश्यक माना जाता है।

भारत की समृद्ध और सांस्कृतिक कलात्मक विरासत में कई विविध कलाएं और संगीत परंपराएं शामिल हैं। भारतीय हैंडलूम्स इस विरासत को सबसे अधिक स्पष्ट रूप से दर्शाते हैं। समय के साथ भारतीय हैंडलूम्स ने खुद को देश की संस्कृति और विरासत के अभिन्न अंग के रूप में बुना हुआ है। इसीलिए देश की चाय टाटा टी प्रीमियम ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर इस विविधतापूर्ण और अद्वितीय कला को सम्मानित करने का निर्णय लिया है। इसके लिए ब्रांड ने भारत के हैंडलूम्स से प्रेरित होकर लिमिटेड एडिशन पैक कलेक्शन बनाया है।

टाटा टी प्रीमियम के लिमिटेड एडिशन पैक कलेक्शन का हर पैक एक शानदार कैनवास है जो भारतीय कारीगरों के अद्वितीय कौशल और कृतियों को प्रदर्शित करता है। महाराष्ट्र की राजसी पैठनी, उत्तर प्रदेश के शानदार बनारसी सिल्क से लेकर तमिलनाडु के बेहद खूबसूरत कांजीवरम, असम के मोहक मुगा सिल्क तक हर हैंडलूम सांस्कृतिक गौरव का प्रतीक है।

भारत की हैंडलूम्स विरासत का जश्न मनाने वाले इन पैक्स की कहानियों को मुलेन लिंटास द्वारा परिकल्पित, दिल छू लेने वाले टीवीसी में एक साथ बुना गया है। भारतीय हैंडलूम्स की पारखी, मशहूर गायिका उषा उथुप ने टीवीसी के गानों को गाया है। भारतीय हैंडलूम्स की विविधता और सुंदरता को दर्शाने वाले इस टीवीसी को देखकर राष्ट्र के प्रति गर्व की भावना से मन भर जाता है। हमारी सांस्कृतिक पहचान को तैयार करने वाले कुशल बुनकरों के प्रति प्यार और सम्मान से टीवीसी की हर फ्रेम भरी हुई है। उत्तर प्रदेश के शानदार बनारसी सिल्क से लेकर पंजाब की खूबसूरत फुलकारी तक, इस फिल्म में बयान की गयी हर कहानी भारतीय हैंडलूम्स को बहुत ही बेहतरीन तरीके से हमारे सामने प्रस्तुत करती है। फिल्म के आखिर में देश की महिमा को बुनने वाले इन धागों का सम्मान करने का आवाहन किया गया है।

इसी अभियान के तहत, देश भर के बुनकरों द्वारा बनाया गया एक विशेष कलेक्शन बिक्री के लिए ओखाई पर उपलब्ध है। इस कलेक्शन की बिक्री से मिलने वाली राशि में से कुछ हिस्सा टाटा टी प्रीमियम कारीगर समुदाय के कल्याण के लिए देगा।

पहल पर टिप्पणी करते हुए, टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स के पैकेज्ड बेवरेजेज़ (भारत और दक्षिण एशिया) के अध्यक्ष, पुनीत दास ने कहा, “स्वतंत्रता दिवस पर ‘देश का गर्व’ पहल के तहत टाटा टी प्रीमियम देश के निपुण कारीगरों, उनके समर्पण, कौशल और देश की सांस्कृतिक विरासत में उनके योगदान को सम्मानित कर रहा है। इस अभियान में हर भारतीय को हमारे देश के विविध हैंडलूम्स को और देश के गर्व को बुनने वाले धागों को सम्मानित करने के लिए प्रेरित करना चाहते हैं। टाटा टी प्रीमियम का हर घूंट बेहतरीन स्वाद दिलाने के साथ-साथ, ‘देश की चाय’ होने के नाते हम सभी को प्रेम, एकता और गर्व के कप में एक साथ बांधे रखता है।”

ट्री डिज़ाइन के सह-संस्थापक अर्नब चटर्जी ने कहा, “टाटा टी प्रीमियम हर साल अपनी देश का गर्व पहल के साथ भारत के प्रति गर्व की भावना का जश्न मनाता है। इस साल इसमें देश की सांस्कृतिक विरासत से जुड़े तत्वों को जोड़कर और भी भव्य बनाने का उद्देश्य था। इसीलिए भारत की समृद्ध और जीवंत हैंडलूम्स संस्कृति को शामिल करने का फैसला किया। सैकड़ों सालों से चली आ रही हैंडलूम्स कला पूरे भारत भर में फैली हुई है और इन उनकी विविधता, बुनकरों के कौशल अचंभित कर देते हैं। बुनकरों की हर पीढ़ी ने इस कला को जीवित रखा, उसकी विशेषताओं, सुंदरता को बनाए रखा, देश की अमूल्य सांस्कृतिक विरासत को संजोकर रखने में उनका यह योगदान यक़ीनन सम्मानजनक है। टाटा टी प्रीमियम टीम के सहयोग से, हमने देश भर में ग्यारह बुनकरों का सावधानीपूर्वक चयन किया और उनके साथ साझेदारी की, उनके साथ मिलकर यह लिमिटेड एडिशन पैक कलेक्शन बनाया, जो भारत के उत्तर, पूर्व, पश्चिम और दक्षिणी राज्यों की हैंडलूम्स संस्कृति का प्रतिनिधि है।”

मुलेन लिंटास के सीईओ, हरि कृष्णन ने कहा, “इतनी अनूठी परिकल्पना पर काम करना बहुत ही रोमांचक था। किसी कला के प्रति सम्मान के रूप में अपनी पैकेजिंग को दोबारा करने वाला ब्रांड बहुत ही दुर्लभ होता है। ब्रीफ बहुत ही सरल था, स्वतंत्रता दिवस पर हैंडलूम्स से प्रेरित लिमिटेड-एडिशन पैक के माध्यम से भारत की एक सबसे अनोखे कला का सम्मान करना था। यह विषय बहुत ही गहरा और मज़बूत है, यह धागे राष्ट्र का निर्माण करते हैं, बुनाई पर कढ़ाई किए गए रूपांकनों से पूरे भारत की अनूठी कहानियों को बयान करते हैं। फिल्म में हमने कई अनोखी कहानियों और हैंडलूम्स की प्रेरणा को प्रस्तुत किया है। उसके लिए आकर्षक एनिमेशन और मनोरंजक गानों का उपयोग किया है। यह फिल्म ख़ुशी देती है, इसका संदेश दिल को छू जाता है।”