Saturday , February 24 2024

सीएचसी माल से सघन मिशन इन्द्रधनुष अभियान 5.0 का आगाज

   

समय पर टीकाकरण से बच्चों का जानलेवा बीमारियों से होता है बचाव : डॉ. मनोज अग्रवाल 

बच्चे को टीकाकरण से दूर न रखें यह आपके बच्चे की सुरक्षा के लिए : डॉ. एपी मिश्रा 

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। ब्लॉक प्रमुख माल के प्रतिनिधि रामकुमार राही ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र माल में बने टीकाकरण बूथ पर फीता काटकर सोमवार को सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान का शुभारंभ किया।इस दौरान उन्होंने कहा कि जिन बच्चों को सभी टीके लग जाते हैं तो वह जानलेवा बीमारियों से सुरक्षित रहते हैं। इसलिए हम सभी का फर्ज बनता है कि सभी बच्चों और गर्भवती को समय रहते टीका लग जाना चाहिए।कोई भी काम तभी सफल हो सकता है जिसमें समाज का सहयोग मिलता है। मेरी जनसामान्य से अपील है कि  बच्चों और गर्भवती  को समय से टीका जरुर लगवा दें। इसके साथ ही जिले के सभी ग्राम प्रधान, सभासद, धर्मगुरु, समाज के प्रतिष्ठित नागरिक और अन्य विभाग भी इस अभियान को सफल बनाने के लिए अपना शत प्रतिशत सहयोग करें।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मनोज अग्रवाल ने कहाकि यह महत्वाकांक्षी अभियान है। सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान नियमित टीकाकरण से किन्हीं कारणों छूटे हुए शून्य से पांच साल तक की आयु के बच्चों और गर्भवती को टीकाकृत करने के लिए आयोजित होता है। इस अभियान को सफल बनाने में सभी लोग अहम भूमिका निभाएं। इस दौरान कोई भी कोताही न बरती जाये।जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. एपी मिश्रा ने जानकारी दी कि इस अभियान में कुल 27 टीकाकरण इकाइयां अपना योगदान देंगी जिसमें शहरी क्षेत्रों में 16 एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 11 हैं। जिनके द्वारा कुल 2320 सत्रों के माध्यम से शून्य से पाँच साल तक की आयु के बच्चों और गर्भवती को टीका लगाया जाएगा। जनपद में हेड काउंट सर्वे डेटा में शून्य से पांच साल तक की आयु के कुल 3,49,116 बच्चे हैं। जिसमें डिप्थीरिया, परट्यूसिस, टिटेनस, हिपेटाईटिस बी एवं इंफ्लूएंजा टाइप बी (पेंटा-1) टीके के ड्यू बच्चों की संख्या 6444, पेंटा -2 टीके के ड्यू बच्चों की 3411 एवं पेंटा – 3 टीके के ड्यू बच्चों की संख्या 3291 हैं। इसके साथ ही मीजल्स एवम रुबेला (एमआर) की पहली डोज से छूटे हुए बच्चों को संख्या 4601 और दूसरी डोज से छूटे हुए बच्चों की संख्या 4461 है। इसके अलावा टिटेनस एवं व्यस्क डिप्थीरिया (टीडी) के टीके की ड्यू गर्भवती की संख्या 3592 है। जनपद में 2115 आशा कार्यकर्ता, 592 एएनएम एवं 1134 लिंक वर्कर के माध्यम से यह अभियान चलाया जाएगा। डॉ. मिश्रा ने कहाकि अगला अभियान 11 सितंबर और 9 अक्टूबर से चलेगा। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम करना है। कार्यक्रम में शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है ताकि 12 प्रकार की बीमारियों से बच्चों को बचाया जा सके।

इस दौरान डॉ. अरुण चौधरी (अधीक्षक सामुदायिक स्वास्थ केंद्र), योगेश रघुवंशी (जिला स्वास्थ शिक्षा एवं सूचना अधिकारी), सतीश यादव (जिला कार्यक्रम प्रबंधक), राजेश पांडे (स्वास्थ शिक्षा अधिकारी सीएचसी माल), वंदना सिंह बीपीएम माल, यूएनडीपी के राज्य प्रतिनिधि डॉक्टर अब्बास आगा, डॉ. सुरभि त्रिपाठी (एसएमओ डब्ल्यूएचओ), डॉ. सुजीत सिंह यूनिसेफ, नीरज नागर यूएनडीपी व अन्य लोग मौजूद रहे।