Thursday , May 23 2024

टीबी-एचआईवी का मिलकर करेंगे खात्मा – डॉ. हीरा लाल

यूपी स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी व राज्य क्षय रोग इकाई की सहयोगी संस्थाओं के साथ बैठक 

राज्य क्षय रोग अधिकारी ने राज्य और जिला स्तर पर मिलकर काम करने का दिया भरोसा 

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। यूपी स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी और राज्य क्षय रोग इकाई की मंगलवार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सभागार में सहयोगी संस्थाओं के साथ बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता सोसायटी के अपर परियोजना निदेशक डॉ. हीरा लाल ने की। उन्होंने कहा कि टीबी और एचआईवी को ख़त्म करने के लिए मिलकर युद्धस्तर पर काम करने की पूरी तैयारी है। एचआईवी ग्रसित में टीबी का जोखिम अधिक होने के नाते आपसी तालमेल बनाकर काम किया जाएगा। 

डॉ. हीरा लाल ने कहा कि सहयोगी संस्थाओं के साथ अब हर महीने बैठक कर जमीनी स्तर पर इन दोनों बीमारियों को लेकर आ रहीं चुनौतियों पर चर्चा होगी और उनका समाधान निकाला जाएगा ताकि इन बीमारियों से समुदाय को सुरक्षित बनाया जा सके। इसके लिए स्क्रीनिंग और जांच के दायरे को बढाया जाएगा। उन्होंने राज्य क्षय रोग अधिकारी डॉ. शैलेन्द्र भटनागर से कहा कि जमीनी स्तर पर बेहतरीन कार्य कर रहे समन्वयकों को चिन्हित किया जाए ताकि उनको सम्मानित किया जा सके। इससे अन्य लोगों को सीख मिलेगी और वह भी अपना प्रदर्शन सुधारेंगे। इसके साथ ही एड्स कंट्रोल सोसायटी की तकनीकी सहयोग इकाई और राज्य क्षय रोग इकाई की तकनीकी सहयोग इकाई को आपसी तालमेल बनाकर कार्यक्रम की प्राथमिकताओं के मुताबिक़ कार्य करने का निर्देश दिया। 

इस मौके पर डॉ. भटनागर ने कहा कि राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के लक्ष्य को हासिल करने को अब बहुत कम समय बचा है, इसलिए टीबी की स्क्रीनिंग और जांच का दायरा बढ़ाने में सभी का सहयोग बहुत जरूरी है। उन्होंने भरोसा दिया कि राज्य और जिला स्तर पर वह पूर्ण समन्वय के साथ कार्य करने को पूरी तरह तत्पर हैं ताकि टीबी के खात्मे के प्रधानमंत्री के संकल्प को तय समय सीमा में पूरा किया जा सके। बैठक में यूपी स्टेट एड्स कंट्रोल सोसायटी के प्रतिनिधियों के साथ ही स्टेट टीबी-एचआईवी समन्वयक, विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूपी टीबी टीएसयू, एड्स कंट्रोल सोसायटी की तकनीकी सहयोग इकाई, जपाइगो, वर्ल्ड विजन, वर्ल्ड हेल्थ पार्टनर, डाक्टर्स फॉर यू, एचएलएफपीपीटी, वाईआरजी केयर, सीफार के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।