Wednesday , April 24 2024

नर से नारायण बनने का मार्ग साधना है – स्वामी सुधीरानन्द


श्रीराम के राज्याभिषेक के साथ नौ दिवसीय श्रीराम कथा का भव्य समापन

लखनऊ। नर से नारायण बनने का मार्ग साधना है। राम जीवन दर्शन है। पग-पग का सहारा हैं इसलिए हमें अपने लगते हैं। भगवान राम के जीवन मूल्यों को अपने आचरण में उतारें। कर्तव्या फाउंडेशन द्वारा अग्रवाल सभा छावनी के विशेष सहयोग से आयोजित श्रीराम कथा के समापन दिवस पर उक्त बातें कथावाचक स्वामी सुधीरानन्द जी महाराज ने कही। उन्होंने कहा कि राम को मानते है तो राम की भी माने। राम ने जो संगठित सामूहिक प्रयास कर सामाजिक बुराईयों में संलिप्त समाज विरोधी शक्तियों का अंत किया वैसे ही हमें सामाजिक समरसता, शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा के तंत्र को मजबूत करने के लिए एकजुट होना होगा। हम सभी समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। आज की कथा में महाराज जी ने भगवान राम के द्वारा रावण के साथ सारे योद्धाओं, कुम्भकरण, मेघनाद व दैत्य सेना को मारकर उद्धार का वर्णन किया। प्रभु श्रीराम विभीषण को लंका का राज देकर सीता और लक्ष्मण, हनुमान, सुग्रीव, जाम्बवान, अंगद आदि के साथ अयोध्या आए। अयोध्या में खुशियां मनाई गई। भगवान राम का राज्याभिषेक हुआ, पुष्प वर्षा की गई। स्वामी जी ने कहा कि पुरुषार्थ से जो अर्थ अर्जित हो वही परमार्थ में समर्पित हो। यदि पुरुषार्थ से अर्जित धन परमार्थ में समर्पित नहीं हुआ तो उसका कोई अर्थ नहीं है। 

कर्तव्या फाउंडेशन के अध्यक्ष सुभाष चंद्र अग्रवाल ने बताया कि श्री राम कथा को अपने जीवन में आत्मसात करें तभी एक अच्छे नागरिक, आदर्श समाज और श्रेष्ठ राष्ट्र का निर्माण कर सकतें है। परिवार ठीक रहा तो समाज और राष्ट्र ठीक रहेगा। कर्तव्या फाउंडेशन समाज में स्नेह, समता एवं सहयोग का वतावरण बनाने के लिए कार्य करता है। 

कर्तव्या फाउंडेशन के महासचिव डॉ हरनाम सिंह ने संचालन करते हुए कहा कि राम समाज को उत्कृष्ठ-श्रेष्ठ  बनाने के प्रतीक है। सभी समाज को सम्यक दिशा में ले जाने को संकल्प लें। राष्ट्र का कार्य ही राम का कार्य है। श्री राम कथा कुटुंब प्रबोधन के विषयों के साथ ही व्यक्ति-परिवार-समाज-राष्ट्र के प्रति कर्तव्यों को पुनर्स्थापित करने वाली रही है। आज समापन पर समाज में श्रेष्ठ रचनात्मक कार्य कर रहें एवं राम कथा में सहयोगी बंधुओं का सम्मान किया गया। बुधवार को प्रातः 11 बजे से हवन एवं भंडारा होगा।

आज के यजमान उमा अग्रवाल, प्रदीप अग्रवाल एवं सुनील वैश्य रहें। कथा में कर्तव्या फाउंडेशन के संरक्षक एवं कमल ज्योति के प्रबंध संपादक साधक राजकुमार, कैंटोमेंट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. चेत नारायण सिंह, आदर्श व्यापार मंडल के अध्यक्ष संजय गुप्ता, प्रकृति भारती के व्यवस्थापक धीरेंद्र सिंह, भाग प्रचारक अजीत, भाग कार्यवाह धीरेंद्र, छावनी परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रमोद शर्मा, मंडल अध्यक्ष रंजीता शर्मा, विकास यादव, रूपा देवी, विष्णु अग्रवाल, रमाकांत सिंह, उमाकांत सिंह, अग्रवाल सभा के सचिव श्रीमंदर अग्रवाल, सचिन अग्रवाल, दीपक जायसवाल, सिद्धार्थ, अतुल सिंह, शिवम दयाल, देव कुमार टिंकू, अभिषेक, राजकुमार मिश्र सहित क्षेत्र के सभी कथा प्रेमियों ने भाव विभोर होकर कथा का आनंद लिया।