Sunday , April 21 2024

उप्र सरकार ने खान एकेडमी के साथ नए एमओयू पर किये हस्ताक्षर

48,000 सरकारी हिंदी स्कूलों के 500000 विद्यार्थियों के गणित के परिणामों में सुधार का लक्ष्य 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने 48,000 सरकारी हिंदी स्कूलों के 500,000 से अधिक छात्रों के लिए गणित की पढ़ाई के परिणाम में सुधार के लिए खान एकेडमी के साथ एक नए एमओयू पर हस्ताक्षर करने की घोषणा की है। यह साझेदारी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (केजीबीवी), माध्यमिक शिक्षा विभाग और समाज कल्याण विभाग सहित बेसिक शिक्षा विभाग की देखरेख वाले स्कूलों में विद्यार्थियों और शिक्षकों के लिए हिंदी में उच्च गुणवत्ता वाली गणित की सामग्री को सुलभ बनाएगी। इस पहल को एचडीएफसी बैंक द्वारा अपने सीएसआर अंब्रेला ब्रांड ‘परिवर्तन’ का समर्थन दिया गया है। 

2021 से, उत्तर प्रदेश सरकार केजीबीवी सरकारी स्कूलों में गणित सीखने के परिणामों में सुधार के लिए खान एकेडमी के साथ मिलकर काम कर रही है। इस पहल के उत्साहजनक परिणामों ने इस साझेदारी के विस्तार को प्रेरित किया है। खान एकेडमी ने शिक्षा प्रदान करने की प्रणाली को नया रूप दिया है और कक्षा के वातावरण में अपने निर्बाध एकीकरण के माध्यम से गणित सिखाने का प्रयास किया है जिसे शिक्षकों और छात्रों दोनों ने सराहा है। दूसरे वर्ष के अंत तक, 746 केजीबीवी विद्यालयों के 72,000 विद्यार्थी सफलतापूर्वक इस कार्यक्रम में शामिल किए गये, वहीं 24,000 से अधिक विद्यार्थियों को प्रति माह 60 मिनट के लिए गणित अभ्यास से जोड़ा गया, जिससे सीखने के परिणाम काफी बेहतर हुए हैं। 

अब नई विस्तारित साझेदारी उत्तर प्रदेश में शैक्षिक बुनियादी ढांचे को और मजबूत करेगी तथा गणित शिक्षा में उत्कृष्टता और नवाचार की संस्कृति को बढ़ावा देगी। शिक्षक अपने विद्यार्थियों की सहायता करने के लिए पहले से कहीं अधिक तैयार होंगे वहीं विद्यार्थियों को सीखने के लिए पर्सनलाइज्ड अभ्यासों के माध्यम से सीखने में संलग्न होने से लाभ होगा। अधिक से अधिक विद्यार्थियों के दैनिक गणित अभ्यास में भाग लेने से क्षेत्र में गणित शिक्षा की समग्र गुणवत्ता में सुधार होना तय है।

साझेदारी के नवीनीकरण पर टिप्पणी करते हुए उत्तर प्रदेश में स्कूली शिक्षा के महानिदेशक विजय किरण आनंद ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार और खान अकादमी के बीच यह सहयोग यह सुनिश्चित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है कि प्रत्येक विद्यार्थी की उन शैक्षिक उपकरणों और संसाधनों तक पहुंच हो जिनकी आवश्यकता उन्हें गणित में उत्कृष्टता हासिल करने और अपनी पूरी क्षमता तक पहुंचने के लिए है। केजीबीवी में कार्यक्रम की सफलता ने गणित सीखने के परिणामों में सुधार के लिए पहले से ही आशाजनक परिणाम दिखाए हैं। हमें अपनी साझेदारी को जारी रखने और इसका विस्तार करने की खुशी है।’

एचडीएफसी में सीएसआर हेड नुसरत पठान ने कहा, ‘बच्चे राष्ट्र का भविष्य है और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उनके पास सीखने के लिए सर्वोत्तम संसाधन उपलब्ध हों। हमें यकीन है कि खान एकेडमी विद्यार्थियों की जरूरतों को पूरा करने और सभी के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने में अपनी विशेषज्ञता और अनुभव के साथ ‘परिवर्तन’ के तहत हमारे प्रयासों की पूरक बनेगी।’’स्टूडेंट लर्निंग इम्प्रूवमेंट प्रोग्राम’ उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों और देश भर के जवाहर नवोदय विद्यालयों (जेएनवी) में लागू किया जा रहा है। इसका उद्देश्य 6वीं से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों पर प्राथमिक ध्यान देने के साथ गणित सीखने के परिणामों में सुधार करना है। ‘परिवर्तन’ अपने सहयोग के माध्यम से लाखों लोगों के जीवन में बदलाव ला रहा है। शिक्षा को बढ़ावा देना फोकस क्षेत्रों में से एक है। साझेदारी का उद्देश्य दीक्षा पोर्टल पर शिक्षकों के लिए खान अकादमी के तकनीक-आधारित मॉड्यूल को उपलब्ध कराना है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि राज्य भर के सभी शिक्षकों को विश्व स्तरीय सामग्री और हिंदी-माध्यम से गणित सीखने के संसाधन उपलब्ध हों।