Saturday , May 25 2024

केजीएमयू में आयोजित हुई G-20 के अंतर्गत Y-20 परामर्श बैठक

“हेल्थ वेल बींग एंड स्पोर्ट्स – एजेंडा फॉर यूथ” विषय रही थीम

केजीएमयू के वाई-20 कार्यक्रम में 6 देश, 12 राज्य और उत्तर प्रदेश के हर जिले से चुने गये 150 सहित कुल 700 युवाओं ने लिया हिस्सा

आस्ट्रेलिया, अमेरिका, यूके, स्पेन, मलेशिया, नेपाल के युवाओं संग उतर प्रदेश के छात्रों ने किया संवाद

जितनी आवश्यकता है उतना ही सोशल मीडिया और मोबाईल का प्रयोग करें युवा – नवनीत सहगल

सोशल मीडिया और मोबाईल एडीक्शन से प्रभावित हो रही युवाओं की नींद – डा. विपिन पुरी

भारत के पास विश्व के सबसे ज्यादा 800 मिलियन युवा, कर सकते है विश्व का नेतृत्व : पंकज कुमार सिंह 

लखनऊ। केजीएमयू परिसर के अटल बिहारी वाजपेयी कन्वेंशन सेंटर में Y-20 के तहत ‘’हेल्थ वेल बींग एंड स्पोर्ट्स – एजेंडा फॉर यूथ’’ की थीम पर परामर्श बैठक की शुरुआत हुई। वाई-20 के इस कार्यक्रम में कुल 6 देश, 12 राज्य, उत्तर प्रदेश के हर जिले से प्रतियोगिता के बाद चुने हुये कुल 150 युवाओं सहित कुल 700 लोगों ने हिस्सा लिया। 

कार्यक्रम के उद्रघाटन सत्र को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार में अपर मुख्य सचिव युवा कल्याण नवनीत सहगल ने कहा कि भारत की ताकत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हम एक मात्र ऐसे देश है जिससे रुस और यूक्रेन दोनों बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि युवा मोबाईल का सिर्फ उतना ही इस्तेमाल करे जितनी ज़रुरत हो, अगर मोबाईल पर कोई आवश्यक कार्य नही है तो उसे दूर रख दे।

केजीएमयू के कुलपति डा. विपिन पुरी ने युवाओं को संबोधित करते हुये कहा कि ‘’सोशल मीडिया और मोबाईल एडीक्शन’’ एक गंभीर विषय है जिस पर पूरे देश के युवाओं को विचार करना चाहिये। मोबाईल एडीक्शन और सोशल मीडिया के अधिक इस्तेमाल से युवाओं में नींद का अभाव और तनाव है। कार्यक्रम में केजीएमयू के प्रति कुलपति विनीत शर्मा, डीन मेडिकल प्रो. एके त्रिपाठी भी मौजूद रहे।

कार्यक्रम के उद्रघाटन सत्र को संबोधित करते हये युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय के निदेशक पंकज कुमार सिंह ने कहाकि पूरे विश्व की तुलना में भारत के पास कुल 800 मिलियन युवा है जो कि 66 प्रतिशत है। युवाओं की इस शक्ति का प्रयोग अगर सही दिशा में किया जाये तो भारत पूरे विश्व का मार्गदर्शन कर सकता है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने आह्वान किया है कि युवाओं की रचनात्मकता का प्रयोग राष्ट्र निर्माण के लिये किया जाये।

पंकज कुमार सिंह ने कहा कि दिसम्बर 2022 भारत के लिये एक गौरवशाली और एतिहासिक क्षण साबित हुआ क्योंकि भारत को जी-20 की अध्यक्षता करने का मौका मिला। जी-20 सम्मान के साथ-साथ एक बड़ी जिम्मेदारी भी है। उन्होंने कहाकि वाई-20 के तहत विश्व भर के एकत्रिक युवा पीस बिल्डिंग, फ्यूचर आफ वर्क, युद्धरहित युग की शुरुआत, इनोवेशन, स्किल, हेल्थ वेल बींग एंड स्पोर्टस आदि विषय पर चर्चा करे पूरे विश्व के लिये एक ब्लूप्रिंट तैयार करेंगे। 

G-20 कार्यक्रम के अंतर्गत युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा Y-20 का आयोजन विभिन्न स्थानों पर किया जा रहा है। Y-20 के अंतर्गत होने वाले कार्यक्रमो का उद्देश्य देशभर के युवाओं को एक साथ लाना, बेहतर कल के लिए विचारों पर विमर्श करना और काम के लिए एक एजेंडा तैयार करना है। भारत की G-20 की अध्यक्षता के दौरान Y-20 द्वारा की जाने वाली गतिविधियां वैश्विक युवा नेतृत्व और साझेदारी पर केंद्रित होंगे। कार्यक्रम में फ्यूचर ऑफ वर्क बिंदु के अंतर्गत वाद विवाद प्रतियोगिता और अन्य गतिविधियां हैं। जिसके अंतर्गत 150 युवा आईआईटी कानपुर के विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुये। मेंटल हेल्थ और योगा कार्यक्रम के अंतर्गत, युवाओं को विभिन्न स्थितियों का सामना करने के लिए किस प्रकार की रणनीति अपनानी चाहिए। स्पोर्ट्स इंजरी में उन्हें क्या करना चाहिए, इन बिंदुओं सहित कई अन्य बिंदुओं पर चर्चा हुई।