Sunday , July 14 2024

नारी शक्ति के नाम रहा प्रदर्शनी का चौथा दिन

पर्वतारोही व वायुसेना में स्क्वाड्रन लीडर तूलिका रानी समेत कई नामचीन हस्तियों ने लिया भाग

बालिकाओं को इनोवेशन और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आगे बढ़ने की जरूरत : तूलिका रानी

लखनऊ। केंद्रीय संचार ब्यूरो, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार लखनऊ के द्वारा आईटीआई अलीगंज में सेवा, सुशासन, गरीब कल्याण एवं नारी शक्ति विषय पर आयोजित प्रदर्शनी का चौथा दिन महिलाओं के नाम रहा। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस से पहले पर्वतारोही व वायुसेना में स्क्वाड्रन लीडर तूलिका रानी, इंडियन फारेस्ट सर्विस से प्राची गंगवार, नेताजी सुभाषचंद्र बोस स्नाकोत्तर महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डा. अनुराधा तिवारी, केंद्रीय संचार ब्यूरो की प्रशासनिक अधिकारी मोनिका और वन स्टाप सेंटर की मैनेजर अर्चना सिंह ने प्रदर्शनी में हिस्सा लिया और केंद्र सरकार द्वारा महिलाओं के लिये चलायी जा रही योजनाओं के बारे में स्टूडेंट्स को अवगत कराया।

इस मौके पर इंडियन फॉरेस्ट सर्विस की अधिकारी प्राची गंगवार ने नारी शक्ति विषय पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि महिलाओं को आज भी समाज में इतनी आजादी नहीं मिली जितना कि पुरुषों के पास है। उन्होंने कहाकि हमें एक बेहतर समाज बनाने की जरूरत है। आज यह बच्चे जो हमारी बातों को सुन रहे हैं वह इस बात को जरूर समझेंगे कि जितना अधिकार उन्हें प्राप्त है उतना ही अधिकार बालिकाओं का भी है।

डॉ. अनुराधा तिवारी ने कहाकि नारी आज आगे बढ़ रही है, उसने अपनी काबिलियत के जरिए बहुत कुछ प्राप्त कर लिया है और उसे बहुत कुछ प्राप्त करने की अभी जरूरत है। उत्तर प्रदेश की पहली squardren लीडर रही तूलिका रानी ने कहा कि आज बालिकाओं को इनोवेशन और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आगे बढ़ने की जरूरत है। जिसके लिए भारत सरकार प्रयासरत है और यह प्रयास सराहनीय है। इस मौके पर केंद्रीय संचार ब्यूरो लखनऊ के निदेशक मनोज वर्मा ने प्रदर्शनी में शामिल होने के लिए आए मेहमानों को केंद्र सरकार द्वारा महिलाओं के लिये चलायी जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे मे बताया।

गौरतलब है कि स्क्वाड्रन लीडर तूलिका माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा लहरा चुकी हैं। उन्होंने महिलाओं को सपने देखने और उन्हें पाने के लिये मेहनत करने के बारे में बताया। प्रदर्शनी के चौथे दिन छात्राओं का हुजुम उमड़ पड़ा। छात्राओं में केंद्र सरकार द्वारा चलायी जा रही कल्याणकारी योजनाओं को जानने का रुझान देखा गया। कई स्टूडेंट्स ने केंद्र सरकार द्वारा चलायी जा रही प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, स्टैंड अप योजना के बारे में जाना और सम्बन्धित अधिकारियों से भविष्य में इससे मिलने वाले लाभ के बारे में भी जाना। छात्राओं ने नारी शक्ति से जुड़ी योजनाओं जैसे बेटी बचाओ-बेटी पढाओ के बारे में जाना। इस चित्र प्रदर्शनी में राज्य सरकार के विभिन्न विभागों के स्टॉल भी लगाए गए है। जनता के लिए यह प्रदर्शनी पूरी तरह से निःशुल्क है। केंद्र सरकार के आठ साल- सेवा, सुशासन, गरीब कल्याण एवम नारी शक्ति विषय पर चित्र प्रदर्शनी के माध्यम से भी लोगो को जागरूक किया जा रहा है। प्रदर्शनी में केंद्र सरकार की गरीब कल्याण से जुड़ी उपलब्धियों, योजनाओं, नीतियों और कार्यक्रमों से जुड़े पैनल भी लगाए गए हैं। फोटो प्रदर्शनी में प्रतिदिन सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता सहित अन्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम स्थल पर और आसपास के क्षेत्र में भारत सरकार का विशेष डिजिटल जागरूकता रथ चलाकर लोगों को जागरूक किया गया। कार्यक्रम के दौरान मंत्रालय के विभागीय कलाकारों एवं पंजीकृत सांस्कृतिक दल के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों को लोगों ने खूब सराहा। कार्यक्रम में उपस्थित आम लोगों  के बीच क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया और सफल प्रतिभागियों को मौके पर ही पुरस्कृत भी किया गया। इस प्रदर्शनी में सभी के लिए प्रवेश नि: शुल्क है।