Sunday , April 21 2024

आत्मनिर्भर बने गौशालाएं, सशक्त समाज को भी जोड़े – श्याम नंदन सिंह

लखनऊ। यूपी में गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाया जाना आवश्यक है, जिससे गौमूत्र व गोबर का सदुपयोग किया जा सके। सेक्टर-“एफ” जानकीपुरम में स्थित श्री लक्ष्मण गौशाला में गुरुवार को आयोजित गौशाला विकास एवं गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने विषयक एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला में उक्त बातें उप्र गोसेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष श्यामनंदन सिंह ने कही। मंत्रोच्चार के बीच गोपूजन से कार्यशाला का शुभारंभ हुआ। श्री लक्ष्मण गौशाला के प्रबंधक गजेंद्र सिंह ने स्मृति चिन्ह भेंटकर अतिथियों का स्वागत किया। श्यामनंदन सिंह ने कहाकि गौशालाएं गौ उत्पादन व इससे जुड़े उत्पादों को तैयार कर गोशालाओं को सशक्त समाज से जोड़े।

समस्त महाजन ट्रस्ट के ट्रस्टी गिरीश भाई ने बताया कि यूपी में गोवंश को स्वाबलंबी बनाने के लिए यथा संभव सहायता देंगे। यह प्रशिक्षण उसी कड़ी में पहला प्रयास है। सुरभि शोध संस्थान वाराणसी के रामेश्वर गौशाला के मुख्य प्रबंधक जटाशंकर ने देशी गोवंश के संरक्षण व संवर्धन हेतु प्रशिक्षित किया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अवध प्रांत के प्रमुख सर्वजीत सिंह ने गोशालाओं के विकास एवं आत्मनिर्भर बनाने के बारे में बताते हुए कहाकि गौवंश अध्यात्म, अर्थ व शिक्षा से जुड़ी है। कार्यशाला का संचालन राधेश्याम दीक्षित ने किया। इस मौके पर एटा के विधायक विपिन कुमार वर्मा, श्री लक्ष्मण गौशाला के उप प्रबंधक अजय सिंह के अलावा राधेश्याम दीक्षित, अजीत सिंह सहित कई गणमान्य नागरिक मौजूद थे।