Friday , July 19 2024

Bank of Baroda : उभरते हुए भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल को बनाया ब्रांड एंडोर्सर

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने आज उभरते हुए भारतीय टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल को अपना ब्रांड एंडोर्सर बनाए जाने की घोषणा की। यह कदम बैंक की लंबे समय से चली आ रही उस नीति के अनुरूप है जिसमें बैंक उभरते हुए प्रतिभाशाली और महत्वाकांक्षी भारतीय खिलाड़ियों को सपोर्ट करता है। ताकि वे विश्व स्तर पर सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के साथ प्रतिस्पर्धा कर सकें।

26 वर्षीय सुमित नागल को बैंक द्वारा रणनीतिक रूप से इस तरह से प्रस्तुत किया जाएगा कि बैंक युवा वर्ग और नई पीढ़ी के ग्राहकों को लक्षित कर सके। साथ ही इस सेगमेंट के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए विभिन्न उत्पादों के लिए इस वर्ग को आकर्षित कर सके।

वर्तमान में सबसे उच्च रैंकिंग वाले भारतीय एकल टेनिस खिलाड़ी सुमित ने 17 जून 2024 को विश्व में #71 की कॅरियर की श्रेष्ठ सिंगल्स रैंकिंग प्राप्त की है। इस दौरान उन्होंने पेरिस ओलंपिक में भाग लेने वाले भारतीय दल में भी जगह बना ली है। जनवरी 2024 में, सुमित ऑस्ट्रेलियन ओपन 2024 में एक ग्रैंड स्लैम पुरुष सिंगल्स मैच में किसी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी को हराने वाले 35 वर्षों में पहले भारतीय खिलाड़ी बने।

सुमित बैंक ऑफ़ बड़ौदा के उन प्रमुख एंडोर्सर्स की शानदार सूची में शामिल हो गए हैं जिसमें बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु और क्रिकेट की युवा आइकन शेफाली वर्मा शामिल हैं।

इस साझेदारी पर बात करते हुए, बैंक ऑफ़ बड़ौदा के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी देबदत्त चांद ने कहा, “भारत की सबसे होनहार खेल प्रतिभाओं के साथ उनके कॅरियर की शुरूआत में साझेदारी करना और सपोर्ट करना बैंक ऑफ़ बड़ौदा की परंपरा रही है। सुमित नागल का बैंक ऑफ़ बड़ौदा परिवार में स्वागत करते हुए हमें अत्यंत खुशी हो रही है। टेनिस एक वैश्विक, अत्यधिक प्रतिस्पर्धी और चुनौतीपूर्ण खेल है और इस वजह से सुमित की यह यात्रा और उनकी आकांक्षाएं और भी अधिक प्रेरणादायक और असाधारण हैं। बैंक ऑफ़ बड़ौदा और सुमित की यह साझेदारी न केवल भारत में इस खेल को बढ़ावा देने में मदद करेगी बल्कि इससे बैंक को युवा दर्शकों तक पहुंचने में भी सहायता मिलेगी।”

श्री चांद ने आगे कहा, “सुमित की प्रतिबद्धता, धैर्य, जुनून और प्रामाणिकता कुछ ऐसे गुण हैं जो उनके व्यक्तित्व की पहचान हैं और यही वे मूल्य हैं जो बैंक ऑफ बड़ौदा के संस्थानिक मूल्यों से मेल खाते हैं। वर्ष 2024 सुमित के लिए पहले ही एक कामयाबी भरा वर्ष रहा है और अब 80,000 से अधिक बड़ौदियन्स उनके सपनों को साकार करने और देश को गर्वित करने की उनकी यात्रा में उनका उत्साहवर्धन कर रहे हैं।”

सुमित नागल ने कहा, “मैं बैंक ऑफ़ बड़ौदा से जुड़कर सम्मानित और भाग्यशाली महसूस कर रहा हूँ और मुझ पर विश्वास जताने के लिए मैं बैंक का आभार व्यक्त करता हूँ। बैंक ऑफ़ बड़ौदा भारत का एक प्रमुख और विश्वसनीय वित्तीय सेवा संस्थान है जो लाखों लोगों के सपनों और महत्वाकांक्षाओं को मजबूती प्रदान कर रहा है और मैं इस साझेदारी को लेकर बेहद उत्सुक हूँ।”

16 अगस्त, 1997 को जन्मे सुमित ने 8 साल की आयु से ही टेनिस खेलना शुरू कर दिया था। उन्होंने 2015 में विम्बलडन बॉयज डबल्स खिताब जीता। सुमित ऑस्ट्रेलियन ओपन 2024 में ग्रैंड स्लैम सिंगल्स के मुख्य ड्रॉ में पहुंचने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं और यूरोप में 2 एटीपी चैलेंजर सिंगल्स खिताब जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी भी हैं। हाल ही में, अप्रैल 2024 में सुमित मॉन्टे कार्लो मास्टर्स टूर्नामेंट के मुख्य ड्रॉ के लिए क्वालीफाई होने वाले 49 वर्षों में पहले भारतीय खिलाड़ी बने हैं और 64वें राउंड में मैटेओ अर्नाल्डी को हराकर क्ले कोर्ट पर ‘मास्टर्स 1000 मैच’ जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी भी बने हैं।