Tuesday , July 16 2024

Paytm ऐप काम कर रहा है, 29 फरवरी के बाद भी करता रहेगा

पेटीएम के संस्थापक व सीईओ विजय शेखर शर्मा ने पेटीएम प्रयोक्ताओं को दिया आश्वासन

लखनऊ (एजेंसी/टेलीस्कोप टुडे डेस्क)। पेटीएम के एसोसिएट बैंक को हाल ही में भारतीय रिज़र्व बैंक से निर्देश प्राप्त हुए हैं। जिनकी प्रतिक्रिया में पेटीएम के संस्थापक एवं सीईओ विजय शेखर शर्मा ने पेटीएम प्रयोक्ताओं को आश्वासन दिया है कि पेटीएम ऐप 29 फरवरी के बाद भी काम करता रहेगा। अपने ट्वीट में विजय शेखर शर्मा ने कहा है, ’’पेटीएम के प्रत्येक प्रयोक्ता को, आपका पसंदीदा ऐप काम कर रहा है, 29 फरवरी के बाद भी इसी तरह काम करता रहेगा। मैं, प्रत्येक पेटीएम टीम सदस्य के साथ, आपके निरंतर सहयोग के लिए आपको सलाम करता हूं।’’

उन्होंने अपने ट्वीट में यह भी कहा, ’’हर एक चुनौती का एक समाधान होता है और हम पूर्ण अनुपालन के साथ अपने राष्ट्र की सेवा हेतु गंभीरता से प्रतिबद्ध हैं। भुगतान नवाचार और वित्तीय सेवाओं के समावेशन में भारत वैश्विक पुरस्कार जीतता रहेगा – और ’पेटीएम करो’ इस क्षेत्र का सबसे बड़ा चैम्पियन है।’’

फिनटेक की विशाल कंपनी पेटीएम ने कहा है कि भुगतान और वित्तीय सेवा उत्पादों के वितरण के लिए वह अग्रणी थर्ड-पार्टी बैंकों के साथ अपने मौजूदा संबंधों का विस्तार करेगी।

भारतीय रिज़र्व बैंक के निर्देश के बाद पेटीएम ग्राहकों को चिंता करने की जरूरत नहीं क्योंकि इसमें कहा गया है कि इससे निम्नलिखित सेवाओं पर कोई प्रतिबंध नहीं लगेगा और ये उपलब्ध हैं और काम करती रहेंगीः

1. क्या पेटीएम ऐप 29 फरवरी के बाद काम करना जारी रखेगा?

पेटीएम और उसकी सेवाएं 29 फरवरी के बाद भी जारी रहेंगी क्योंकि पेटीएम द्वारा दी जा रही बहुत सी सेवाएं विभिन्न बैंकों के साथ सहभागिता में हैं (केवल एसोसिएट बैंक नहीं)। फिनटेक ने अन्य बैंकों के साथ काम करना बीते दो सालों में शुरु किया था जिसमें अब तेजी लाई जाएगी। पेटीएम विभिन्न भुगतान उत्पादों के लिए विभिन्न बैंकों के साथ काम करता है (केवल एसोसिएट बैंक के साथ नहीं)। कंपनी देश में कई अग्रणी बैंकों के साथ साझेदारी में कारोबारियों के लिए ऐक्वायरिंग सेवाएं पेश करती है और वह थर्ड-पार्टी बैंक साझेदारियों का विस्तार जारी रखेगी। 

2. बचत खाते, वॉलेट, फास्टैग, एनसीएमसी अकाउंट में जमा पैसे पर कोई असर होगा?

’’भारतीय रिज़र्व बैंक के निर्देश पेटीएम पेमेंट्स बैंक के लिए हैं, न कि पेटीएम के लिए’’, कंपनी ने कहा है। पेटीएम ने बताया है कि इससे बचत खाते, वॉलेट, फास्टैग, एनसीएमसी अकाउंट में जमा पैसे पर कोई असर नहीं होगा; ग्राहक इनमें मौजूद पैसे का इस्तेमाल जारी रख सकेंगे।

3. क्या पेटीएम मनी पर किया गया निवेश सुरक्षित है?

पेटीएम मनी के साथ ग्राहकों का निवेश सुरक्षित है। कंपनी ने आश्वासन दिया है कि पेटीएम के एसोसिएट बैंक पर भारतीय रिज़र्व बैंक के हालिया निर्देश पेटीएम मनी लिमिटेड (पीएमएल) के परिचालन अथवा शेयरों, म्यूचुअल फंड या एनपीएस में ग्राहकों के निवेशा पर असर नहीं डालेंगे। पेटीएम मनी लिमिटेड सेबी के नियम-कायदों का पूर्ण अनुपालन करते हुए कार्य करती है।

4. क्या ऋण एवं बीमा वितरण पर कोई प्रभाव पड़ेगा?

पेटीएम की अन्य वित्तीय सेवाएं जैसे ऋण वितरण एवं बीमा वितरण किसी भी तरह से पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड से संबंधित नहीं हैं तथा ये इस निर्देश से अप्रभावित रहेंगे, कंपनी ने अपनी ऐक्सचेंज फाइलिंग में यह स्पष्ट किया है। 

5. पेटीएम पेमेंट गेटवे का क्या होगा?

पेटीएम पेमेंट गेटवे कारोबार (ऑनलाइन मर्चेंट) वर्तमान कारोबारियों को भुगतान समाधान देता रहेगा। पेटीएम की ऑफलाइन मर्चेंट पेमेंट नेटवर्क सेवाएं जैसे पेटीएम क्यूआर, पेटीएम साउंडबॉक्स, पेटीएम कार्ड मशीन बदस्तूर जारी रहेंगी तथा नए ऑफलाइन कारोबारियों को ऑनबोर्ड किया जा सकेगा।

6. क्या पीपीएसएल नोडल अन्य बैंकों को स्थानांतरित करेगी?

पेटीएम अन्य विभिन्न बैंकों के साथ साझेदारी करेगी और विभिन्न भुगतान उत्पाद अपने ग्राहकों को पेश करेगी। 29 फरवरी 2024 को वन97 कम्यूनिकेशंस लिमिटेड और पेटीएम पेमेंट्स सर्विसिस लिमिटेड (पीपीएसएल) के नोडल अकाउंट की बर्खास्तगी के निर्देश के चलते इस अवधि में नोडल अन्य बैंकों में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

7. पेटीएम के ऑफलाइन भुगतानों का क्या होगा?

पेटीएम देश के कई अग्रणी बैंकों के साथ साझेदारी में कारोबारियों को ऐक्वायरिंग सेवाएं मुहैया कराती है और वह अपनी थर्ड-पार्टी बैंक साझेदारियों का विस्तार जारी रखेगी। पेटीएम के ऑफलाइन मर्चेंट पेमेंट नेटवर्क की सेवाएं जैसे पेटीएम क्यूआर, पेटीएम साउंडबॉक्स, पेटीएम कार्ड मशीन उसी प्रकार काम करती रहेंगी और साथ ही नए ऑफलाइन कारोबारियों को भी ऑनबोर्ड किया जा सकेगा।

8. क्या बिल भुगतानों पर असर पड़ेगा?

मोबाइल रिचार्ज, सबस्क्रिप्शन व अन्य आवर्ती भुगतान भारतीय रिज़र्व बैंक के निर्देश के बाद भी पहले की तरह सुचारु तरीके से काम करते रहेंगे।