Friday , June 21 2024

भाजपा में बगावत तेज, पूर्व कार्यवाहक महापौर सहित बागियों ने निर्दलीय ठोंकी ताल

लखनऊ (शम्भू शरण वर्मा/टेलिस्कोप टुडे)। लंबे इंतजार के बाद आखिरकार  भाजपा ने रविवार दोपहर पार्षद प्रत्याशियों और देर शाम महापौर प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी। लिस्ट जारी होते ही पार्टी में बगावत तेज हो गई है और दावेदारों ने निर्दलीय नामांकन कर पार्टी की मुश्किलें बढ़ा दी है। लिस्ट जारी होते ही कल्याण मंडप महानगर नामांकन स्थल पहुंचे पूर्व कार्यवाहक महापौर सुरेश चंद्र अवस्थी ने महाकवि जयशंकर प्रसाद वार्ड से निर्दलीय पर्चा दाखिल कर दिया। इससे पूर्व वर्ष 2006 में भी भाजपा से टिकट न मिलने पर वह निर्दलीय चुनाव जीते थे। वर्ष 2022 में हुए विधानसभा चुनाव में लखनऊ उत्तर विधानसभा क्षेत्र से विधायक डॉ. नीरज बोरा का विरोध करना इनको भारी पड़ गया। वहीं मैथिलीशरण गुप्त वार्ड से निवर्तमान पार्षद दिलीप श्रीवास्तव को भी लखनऊ पूर्व के विधायक आशुतोष टंडन का विरोध करने की कीमत चुकानी पड़ी। भाजपा से टिकट न मिलने पर दिलीप श्रीवास्तव ने भी निर्दलीय नामांकन दाखिल कर दिया। पर्चा दाखिल करने के बाद मीडिया से बातचीत करने के दौरान दिलीप श्रीवास्तव ने विधायक आशुतोष टंडन को अपने वार्ड से चुनाव लड़ने का न्योता दिया। 

लगातार तीन बार पार्षद रह चुके हैं सुरेश चंद्र अवस्थी, पत्नी निवर्तमान पार्षद

महाकवि जयशंकर प्रसाद वार्ड से निर्दलीय पर्चा दाखिल करने वाले पूर्व कार्यवाहक महापौर सुरेश चंद्र अवस्थी लगातार तीन बार पार्षद रह चुके हैं। वर्ष 2001 में पहली बार भाजपा के टिकट पर सुरेश चुनाव जीते थे। वर्ष 2006 में भाजपा से टिकट न मिलने पर वह निर्दलीय चुनाव लड़े थे और जीत दर्ज की थी।हालांकि बाद में सुरेश चंद्र अवस्थी पुनः भाजपा में शामिल हो गए थे। वर्ष 2012 में एक बार फिर पार्टी ने उन पर विश्वास जताते हुए चुनाव मैदान में उतारा था और वह जीते भी थे। जबकि वर्ष 2017 में सीट महिला आरक्षित होने पर उनकी पत्नी गीता अवस्थी भाजपा से चुनाव जीती थीं। वर्ष 2022 में विधानसभा चुनाव में उन्होंने लखनऊ उत्तर से विधायक डॉ. नीरज बोरा को उम्मीदवार बनाये जाने का विरोध किया था। ऐसे में माना जा रहा कि विधायक का विरोध करना उनको भारी पड़ गया।

मंडल अध्यक्ष ने भी किया निर्दलीय नामांकन

उधर टिकट न मिलने पर पाला बदलने और निर्दलीय चुनाव लड़ने का मन बना चुके दावेदारों ने निर्दलीय नामांकन कर बगावत का बिगुल फूंक दिया है। छठे दिन रविवार को भाजपा ओबीसी मोर्चा लखनऊ उत्तर मंडल 4 के अध्यक्ष आदित्य कुमार गौड़ ने फैजुल्लागंज वार्ड तृतीय से निर्दलीय नामांकन पत्र दाखिल किया। समर्पित कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाते हुये आदित्य ने कहाकि उन्होंने पार्टी व पद से इस्तीफा नहीं दिया है। गौरतलब है कि फैजुल्लागंज वार्ड तृतीय से ही शनिवार को भाजपा के पूर्व वार्ड अध्यक्ष तेज प्रताप सिंह राजन ने भी निर्दलीय नामांकन पत्र दाखिल किया था। इस वार्ड से भाजपा ने फैजुल्लागंज वार्ड चतुर्थ के निवर्तमान पार्षद प्रदीप शुक्ला को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं इस बात की सुगबुगाहट है कि टिकट न मिलने से नाराज कई पार्टी पदाधिकारियों के साथ ही निवर्तमान पार्षद भी निर्दलीय ताल ठोक सकते हैं।

निर्दलीय चुनाव लड़ेगी समाजसेविका ममता त्रिपाठी

फैजुल्लागंज वार्ड द्वितीय से भाजपा से मजबूत दावेदार मानी जा रही समाजसेविका ममता त्रिपाठी निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरेंगी। ममता त्रिपाठी के मुताबिक आखिरी दिन सोमवार को वो निर्दलीय नामांकन करेंगी। इस वार्ड से भाजपा ने प्रियंका बाजपेयी को चुनाव मैदान में उतारा है। जिसको लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं में नाराजगी भी है। फैजुल्लागंज वार्ड द्वितीय के बूथ अध्यक्ष विजय शुक्ला ने अपना इस्तीफा भाजपा उत्तर मंडल 4 के अध्यक्ष रामशरण सिंह को सौंप दिया था। वहीं भाजयुमो उत्तर मंडल 4 के अध्यक्ष नीरज मिश्रा के मुताबिक उनकी पत्नी रेनू मिश्रा भी फैजुल्लागंज वार्ड द्वितीय से निर्दलीय नामांकन पत्र दाखिल कर सकती हैं।