Wednesday , April 24 2024

भाजपा का लक्ष्य जाति नहीं बल्कि विकास है – डा. दिनेश शर्मा

बूथ की शक्ति ही  भाजपा  की असल ताकत : पूर्व डिप्टी सीएम

आगामी चुनावों में जीत के लिए अभी से करें तैयारी 

लखनऊ। पूर्व उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि बूथ की शक्ति ही भाजपा की असल ताकत है। बूथ का प्रबंधन जितना अच्छा होगा जीत उतनी ही अच्छी होगी। उन्होंने कहा कि जब भी कोई सरकारी कार्यक्रम हो पार्टी कार्यकर्ता को वहां पर उपस्थित होना चाहिए। यह भी  सुनिश्चित किया जाए कि योजना का लाभ हर व्यक्ति तक जरूर पहुचे।  मध्य विधानसभा के कार्यकर्ता सम्मेलन में आयोजित बूथ सशक्तिकरण अभियान में बतौर मुख्य अतिथि मौजूद डा. दिनेश शर्मा ने कहाकि यह नहीं सोचना चाहिए कि किसी स्थान अथवा समुदाय के लोगों का वोट पार्टी को नहीं मिलेगा। रामपुर और आजमगढ में भाजपा की जीत से यह अवधारणा भी ध्वस्त हो गई है। अल्पसंख्यक समुदाय के लोग भी पार्टी से जुड रहे हैं। पार्टी महिलाओं को भी आगे बढा रही है। भाजपा एकमात्र पार्टी है जो जाति के आधार पर काम नहीं करती है। भाजपा का लक्ष्य जाति नहीं बल्कि विकास है। हमे अपने संगठन को हर हाल में और मजबूत करना है।  आने वाले स्थानीय निकाय के चुनाव और लोकसभा चुनाव को लक्ष्य मानते हुए उनमें विजय के लक्ष्य को हासिल करने के लिए अभी से तैयारी की जानी चाहिए। 

डा. शर्मा ने कहा कि जनता के सुख दुख में भागीदार बनने और त्योहार पर लोगों से मिलने से पार्टी की जीत की भूमिका तैयार होती है। इस बात का इंतजार नहीं किया जाना चाहिए कि जो प्रत्याशी होगा वह लोगों के पास जाएगा क्योंकि भाजपा में प्रत्याशी नहीं पार्टी चुनाव लडती है और कमल का फूल निशान ही प्रत्याशी माना जाता है। उन्होंने इसके लिए गुजरात का उदाहरण भी दिया और कहाकि वहां पर जब भी प्रत्याशी की बात होती है तो लोग कमल के फूल को ही प्रत्याशी बताते हैं। सब लोग एकजुट होकर उसे विजयी बनाने के लिए परिश्रम करते हैं। टिकट वितरण के बाद हर कार्यकर्ता को उचित सम्मान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहाकि कई कार्यकर्ता तो ऐसे हैं कि जिनका पूरा जीवन गुजर गया पर टिकट नहीं मिला। इसके बावजूद पार्टी के प्रति उनका लगाव और समर्पण कभी कम नहीं होता है। 

उन्होंने कहा कि जनसंघ व भाजपा के प्रारंभ के दिनों में कार्य करना अत्यन्त कठिन था। संसाधनों का आभाव था व कांग्रेस की सरकार बडा उत्पीडन करती थी। प्रचार तक नहीं करने दिया जाता था। चन्दा करके काम चलाया जाता था। ऐसे समय में उज्जवल भविष्य की कामना में संगठन के प्रति समर्पण व दृढता से किए गए कार्य के कारण भाजपा आगे बढी है। इसमे बूथ का प्रबंधन सबसे अहम है तथा बूथ अध्यक्ष भाजपा की एक मजबूत कडी होती है। बूथ स्तर पर पार्टी अलग से कार्यक्रम भी कराती है। मन की बात कार्यक्रम का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि इसे बूथ स्तर पर सुनने की व्यवस्था की गई है। प्रधानमंत्री के निर्देशों के प्रसार की जिम्मेदारी बूथ अध्यक्ष व कार्यकर्ता की होती है। पूर्व के समय में जब मोबाइल नहीं होता था तब भी भाजपा का कार्यकर्ता दिल्ली से कही गई बात को समान रूप से देश के हर कोने में पहुचा देता था। पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि विजय उसी की होती है जो निचले स्तर पर मजबूत होता है। भाजपा का कार्यकर्ता अनुशासित है और पार्टी में बूथ का कार्यकर्ता ही आगे चलकर बड़ा नेता बन जाता है। डा. शर्मा ने अपने महापौर चुनाव का उदाहरण देते हुए कहा कि उस समय विरोधी प्रत्याशी साधन सम्पन्न थे पर कार्यकर्ता हमारा अधिक प्रतिबद्ध व समर्पित था। वही समर्पित कार्यकर्ता जीत का आधार बना और पार्टी ने चुनाव जीता था। कार्यक्रम में मध्य विधानसभा के पूर्व भाजपा प्रत्याशी रजनीश गुप्ता बॉबी, वरिष्ठ नेता अमित गुप्ता, सुनील यादव, मंडल अध्यक्ष जितेंद्र राजपूत, आनंद पांडे, अंकित सिंह, मुकेश सिंह मोंटी सहित अन्य वरिष्ठ कार्यकर्ता उपस्थित थे।