Tuesday , July 16 2024

विधानसभा सत्र से पूर्व हुई सर्वदलीय बैठक में बनी ये सहमति

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने सर्वदलीय बैठक के पूर्व नवीनीकृत राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन हॉल का उद्घाटन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ किया और इस हेतु उनके सहयोग पर हार्दिक आभार व्यक्त किया। उद्धाटन के इस सुअवसर पर सभी दलीय नेता एवं मंत्रीगण उपस्थित रहे।

इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जो बेहतरीन छवि है उसे हम सबको बनाए रखना है। यदि सदन में कोरम पूरा होगा तो देर रात तक भी सदन को संचालित किया जाएगा। इससे अधिक से अधिक सदस्यों को सदन में अपनी बात रखने का अवसर मिलेगा।

विधानसभा अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री समेत सभी दलीय नेताओं को 22 जनवरी को हुए मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के बाल्य रुप विग्रह के प्राण प्रतिष्ठा के लिए बधाई दी एवं वर्ष 2024 के प्रथम बजट सत्र आयोजित बैठक में राज्य के संसदीय परम्पराओं के अनुरूप राज्यपाल के अभिभाषण व बजट सत्र के महत्व पर प्रकाश डालते हुए सभी दलीय नेताओं से सहयोग की अपेक्षा की। इस पर सभी दलीय नेताओं ने उन्हें आश्वस्त किया कि वह सदन के संचालन में पूरा सहयोग करेंगे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी दलीय नेताओं का स्वागत करते हुए मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के बाल्य रुप विग्रह के प्राण प्रतिष्ठा के लिए दी गई बधाई पर सभी को धन्यवाद दिया। श्री राम मंदिर अयोध्या धाम का प्रसाद अपने हाथों से वितरित करते हुए सीएम ने कहाकि सभी सदस्य विधानसभा अध्यक्ष के नेतृत्व में अयोध्या दर्शन का कार्यक्रम तय कर लें। जिसमें हम सभी उपस्थिति रहें। यह कदम प्रदेश टूरिज्म इकोनामी को मजबूत करने की दिशा में एक प्रयास है। उप्र में पर्यटन के क्षेत्र में अपार संभावनाएं है।

उन्होंने कहा कि पिछले लगभग दो वर्षों से उत्तर प्रदेश विधान सभा संसदीय प्रणाली के रुप में प्रतिष्ठित हुआ है। आज उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य चर्चा परिचर्चा के देश में जाना जाता है और यह देश के लिए अनुकरणीय है। अन्य राज्यों के स्पीकर एवं प्रतिनिधि आते है तो आने के प्रयोजन पूछने पर बतातें है कि उत्तर प्रदेश की विधान सभा बहुत सुन्दर बनी है जिसे देखने आया हूँ।

उन्होंने कहाकि उप्र का बजट चुनाव की दृष्टि से प्रभावी और महत्वपूर्ण है। सदन देर रात 11-12 बजे तक चले जिससे क्षेत्र की जनता यह समझ सके कि हमारे द्वारा चुना गया जन प्रतिनिधि हमारे समस्याओं को प्रभावी तरह से सदन में बतातें है। सदन में जो भी भाषण हो वह संसदीय मर्यादा के अनुरूप हो। देश के सबसे बड़े राज्य के आय-व्यय की चर्चा हम सब वर्ष 2024 के प्रथम सत्र में करने जा रहे हैं, जो संसदीय मर्यादाओं के अनुरूप होगा।

इस अवसर पर संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्म श्रीराम के विग्रह के प्राण प्रतिष्ठा के पूर्व से भी गोरक्षपीठ का सदैव योगदान रहा है। इस कार्य के लिए सभी को हर्षित होना चाहिए कि हम सभी इस कार्य को देख रहे है। पर सभी लोग सदन चलाने में सहयोग करेंगे, यह एक अच्छी परंपरा है। उन्होंने कहा कि सदन चलने पर ही सभी समस्याओं का निदान होता है तथा उसी से प्रदेश विकास पथ पर होगा। श्री खन्ना ने कहा कि नेता सदन की मंशा के अनुरूप चर्चा कर ऐतिहासिक रूप से परंपरा का निर्वाह किया जायेगा। सत्र सुचारू रूप से चलाने के आश्वासन का हम स्वागत करते हैं।  

बैठक में नेता प्रतिपक्ष की जगह समाजवादी पार्टी के सचेतक मनोज कुमार पाण्डेय ने बजट सत्र में अपने दल का पूरा सहयोग करने तथा सकारात्मक चर्चा किये जाने पर अपनी सहमति जताई। नेता अपना दल रामनिवास वर्मा, नेता लोकदल राजपाल बालियान, नेता सुहेलदेव पार्टी ओम प्रकाश राजभर, नेता निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल के अनिल कुमार त्रिपाठी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की नेता आराधना मिश्रा (मोना), जनसत्ता दल (लोकतांत्रिक) के नेता रघुराज प्रताप सिंह (राजा भैया) एवं नेता बहुजन समाज पार्टी श्री उमाशंकर सिंह सहित सभी दलीय नेताओं ने मुख्यमंत्री एवं विधानसभा अध्यक्ष को सदन चलाने में पूर्ण सहयोग करने का आश्वासन दिया। इससे पूर्व कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में समिति के सदस्यों ने अपने अपने विचार रखे।