Thursday , June 13 2024

समूह की महिलाओं को रोजगार देकर आत्मनिर्भर बनाने की पहल – अंशुमाली द्विवेदी

राज्यमंत्री विजयलक्ष्मी गौतम ने प्रोजेक्ट सारथी के महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम का किया शुभारम्भ

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। प्रोजेक्ट सारथी के अन्तर्गत अंशुमाली द्विवेदी ने ग्राम इटहुरा स्थित अपने पैतृक निवास पर आज क्षेत्र के स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को एकत्र कर सिलाई कढ़ाई प्रशिक्षण  कार्यक्रम का आयोजन किया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ बतौर मुख्य अतिथि मौजूद राज्यमंत्री विजयलक्षमी गौतम ने किया। उन्होंने अंशुमाली द्विवेदी और उनके NGO प्रोजेक्ट सारथी को बधाईयां दी और उनके द्वारा किए गए समाज सेवा के कार्यों की सराहना की। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में इटहुरा हजाम तथा आस पास के गावों से लगभग 150 महिलाओं ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। 

हाल ही में प्रोजेक्ट सारथी ने दिल्ली स्थित फैबनेस्ट स्टूडियो के साथ गठबन्दन करा हैं। इस कार्यक्रम में फैबनेस्ट स्टूडियो के फाउंडर एवं दिल्ली के प्रसिद्ध फैशन डिज़ाइनर दिवम जैन स्वयं उपस्थित रहे। दिवम तथा उनकी टीम ने न सिर्फ स्थानीय स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण देगी बल्कि उनको सिलाई कढ़ाई का ऑर्डर भी देगी। अंशुमाली ने बताया कि उनका संगठन समूह की महिलाओं को कपड़ा और सिलाई मशीनें उपलब्ध करा रहे हैं तथा महिलाओं को उनके द्वारा सिले गए सामानों की संख्या के आधार पर भुगतान किया जाएगा। 

आज कार्यक्रम में अंशुमाली ने फैबनेस्ट टीम के ज़रिये अपने स्टार्टअप की ओर से समूह की महिलाओं को दो हज़ार झोलों का पहला ऑर्डर भी दिया। मंत्री विजयलक्ष्मी गौतम ने महिलाओं का प्रोत्साहन किया और सरकार की नीतियों के बारे में बताया। उन्होंने महिलाओं की समस्याओं को सुना और उनके तुरंत कार्यवाही करवायी। 

अंशुमाली द्विवेदी द्वारा संचालित प्रोजेक्ट सारथी पिछले दो वर्ष से अधिक समय से देवरिया जनपद में समाज सेवा से जुड़े कार्य किये जा रहा है। ग्रामीण स्कूलों में योग शिविर, मुफ़्त कॉपी और लेखन सामग्री वितरण कार्यक्रम, बच्चों की चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन, पोषण माह के दौरान जिला अस्पताल में जा कर नवजात शिशुओं की माताओं को दाल, गुड़ एवं फल वितरण किए। इसके साथ ही स्वतंत्रता दिवस पर सरकार के द्वारा शुरू किये हर घर तिरंगा अभियान के दौरान निःशुल्क तिरंगा वितरण तथा हर घर तिरंगा यात्रा भी आयोजित किया। 

अपने एनजीओ के माध्यम से अंशुमाली अब महिलाओ के सशक्तिकरण और स्वरोजगार के लिए एक अनोखा कदम उठा रहे हैं।  अपने ग्राम ईटाहुरा हजाम तथा आस पास के ग्राम सोनबरसा, ईटाहुरा मिश्र और करजहाँ की स्वयं सेवा समूह की महिलायें उपस्थित रहीं। कार्यक्रम में अशोक द्विवेदी, सुनील केडिया, अंकित द्विवेदी, विवेक कुशवाहा, डॉ सुनील कुशवाहा, भरौली प्रधान डॉ ओम प्रकाश, आदि उपस्थित रहे।    

अंशुमाली देवरिया जिले के लिए देखे गए अपने सपने को अब साकार होते हुए देख कर खुश है और उन्होंने संकल्प लिया कि वे क्षेत्र के विकास के लिए आने वाले समय में किसानो को गौ आधारित और प्राकृतिक खेती के फायदे,  किसान उत्पादन संगठनो को कैसे बनाया और चलाया जाए, युवाओं को भारतीय संस्कृति एवं सनातन धर्म की जानकारी साझा करने के लिए भी कार्यक्रम आयोजित करते रहेंगे।