Thursday , May 23 2024

सदभावना दिवस के रूप में मनाई गई पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास की 111वीं जयंती

– डा. अखिलेश दास गुप्ता फाउंडेशन ने संगोष्ठी का किया आयोजन

– सद्भावना दिवस के रूप में मनी बाबू बनारसी दास की जयन्ती

– बीबीडी ग्रुप के प्रेसीडेंट विराज सागर दास ने श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए बाबू जी के बताये रास्ते पर चलने का लिया संकल्प

लखनऊ। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं उप्र के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास की 111वीं जयंती शनिवार को 55, पुराना किला में डा. अखिलेश दास फाउंडेशन के तत्वावधान में बाबू बनारसी दास के परिजनों, समर्थकों  व उनके अनुयायियों की मौजूदगी में मनाई गई। इस अवसर पर बाबू जी के पौत्र व बीबीडी ग्रुप के प्रेसीडेंट विराज सागर दास ने बाबू बनारसी दास के चित्र पर पुष्प अर्पित कर नमन किया और अपनी भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। स्व. बाबू बनारसी दास को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्होंने कहा कि बाबूजी ने एक महान स्वतंत्रता सेनानी होने के साथ ही साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री रहते हुए जनकल्याण के लिए जो कार्य किये वह आज भी हमारे समाज में याद किये जा रहे हैं। उनका मानना था कि जनसेवा ही मानव का धर्म है। उनके द्वारा जो मूल्य और आदर्श स्थापित किये गए, उन मूल्यों को अपने जीवन में उतारने का संकल्प लेना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।  

इस मौके पर इं. ऋषि अग्रवाल ने बाबू बनारसी दास के चित्र पर पुष्प अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके बताये गये रास्ते पर चलने का संकल्प लिया। इस मौके पर प्रमुख रूप से अरूण गुप्ता, कैलाश पांडेय, अशोक सिंह, अचल मेहरोत्रा, सुशील दुबे, डा. रेहान अहमद खान, सुबोध श्रीवास्तव, डा. पीएस जायसवाल, चंद्र प्रकाश गोयल, राजीव बाजपेई, निहाल खान, केसी यादव, वंदना राज अवस्थी, ऊषा बाल्मीकि, उमा गुप्ता, शान बक्शी, आशा मौर्या, कमलेश गुप्ता, ऋषभ गुप्ता, निकिता भारती, प्रिया गुप्ता, अजय श्रीवास्तव, नवीन रस्तोगी, बाबा, रवि विश्वकर्मा, रेहान, आबिद, वसीम खान, अतीक अंसारी, सर्वेश अवस्थी, नृपेन्द्र, सिंह, महेश राठौर, धीरज गुप्ता, प्रदीप कुमार, सनी कश्यप, राम प्रसाद आदि ने भी पुष्पांजलि अर्पित कर बाबू जी को नमन किया और बाबू जी के बताये रास्ते पर चलने का संकल्प लिया। बीबीडी परिवार के सभी सदस्यों ने बाबू बनारसी दास जी के चित्र पर पुष्प अर्पित करते हुए उनके बताये रास्ते पर चलने का संकल्प लिया।