Friday , April 19 2024

लखनऊ में माइक्रोसेंस का डीसी आईओटी टेक्नोलॉजी डिस्प्ले एण्ड सॉल्यूशन सेन्टर शुरू

लखनऊ आईओटी पार्क के सहयोग से उत्तर प्रदेश में जर्मन कम्पनी ने रखा कदम
लखनऊ। लखनऊ को विश्व का आईओटी पार्क बनाने के लिये प्रयासरत लखनऊ आईओटी पार्क के सहयोग से जर्मनी कम्पनी माइक्रोसेंस राज्य में कदम रखते हुये डीसी आईओटी टेक्नोलॉजी डिस्प्ले एण्ड सॉल्यूशन सेन्टर की शुरूआत की है। इस सेन्टर के माध्यम से लोग लाइटिंग के क्षेत्र में आ रहे बदलावों का अनुभवों कर सकेगें। सेन्टर के शुभारम्भ के मौके पर लखनऊ आईओटी पार्क के एमडी विनय अग्रवाल, माइक्रोसेंस जर्मनी के कंट्री हेड सचिन देशपाण्डे, सॉफ्टप्रो इण्डिया कम्प्यूटर टेक्नोलॉजी के कॉर्पोरेट रिलेशंस मैनेजर अनिरूद्ध श्रीवास्तव सहित कई प्रमुख लोग मौजूद थे। माइक्रोसेंस के कंट्री हेड सचिन देशपाण्डे ने बताया कि माइक्रोसेंस इस विकर्णक तकनीक के साथ उत्तर प्रदेश में इमारती परियोजनाओं के सतत और सुरक्षित विकास में योगदान देने के लिये समर्पित है। जहां पारम्परिक कॉपर केबलिंग की बजाय कैट 6 केबल का उपयोग किया जाता है। कैट 6 केबल एसी केबल्स की तुलना में साठ प्रतिशत कम कॉपर का उपयोग करती है और क्लास दो वायरिंग के रूप में होने के कारण इमारतों में आग से होने वाले खतरों और बिजली से होने वाली चोटों से काफी सुरक्षित होती है। इसके अलावा डीसी वितरण प्रणालियॉ सोलर पावर से उत्पन्न की जाने वाली ऊर्जा से सीधे ऊर्जा ले सकती है क्योंकि यह ऊर्जा भी डीसी होती है। पारम्परिक प्रणालियों से होने वाले कई डीसी एसी-डीसी परिवर्तनों को बचाकर तकरीबन 26 प्रतिशत ऊर्जा की बचत होती है। माइक्रोसेंस डीसी हब भी बिजली उपकरणों के मानकीकरण में मदद करता है। जैसे एलईडी लाइटिंग बीएलडीसी पंखे उपकरण और डीसी पावर आउटलेट, जिससे अतिरिक्त 20-25 ऊर्जा की बचत होती है। माइक्रोसेंस के रेडार सेंसर्स जो मौजूद लक्स स्तर, आर्द्रता तापमान हवा की गुणवत्ता को मापते है और यह डेटा आईटी नेटवर्क पर प्रदान करते है। बेहतर बात यह है कि जबसे लखनऊ आईओटी पार्क ने माइक्रोसेंस और कई अन्य अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय ब्राण्डों को एक्स पीओई तकनीक पेश की है तब से इस तकनीक का बड़ी संख्या में उत्पादन उत्तर प्रदेश में हो रहा है। इसकी योजना यहां से अमेरिका, यूरोप, खाड़ी देश और अफ्रीका सहित दुनिया भर में इन उपकरणों का निर्यात करने की है। लखनऊ आईओटी पार्क के महाप्रबन्धक पंकज गौड़ ने बताया कि लखनऊ आईओटी पार्क कम्प्यूटर, प्रिन्टर, एयर कंडीशनर, एलईडी लाइटिंग, पंखें घरेलू उपकरण, इलेक्ट्रानिक्स गैजेट्स जैसे सभी प्रकार के उपकरणों के निर्माताओं को आमंत्रित करता है। ताकि माइक्रोसेंस इण्डिया जैसी कम्पनियों द्वारा पेश की जा रही डीसी विद्युत वितरण प्रणालियों का समर्थन कर सकें और इलेक्ट्रानिक कचरे, कार्बन उत्सर्जन और आग और विद्युतीय खतरों को नियंत्रित करने में मदद करें।