Saturday , May 25 2024

TATA POWER : ईवी चार्जिंग नेटवर्क ने पार किया 10 करोड़ हरित किलोमीटर का पड़ाव

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। एकीकृत बिजली कंपनियों और इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग समाधान प्रदाताओं में से एक, टाटा पावर ने सार्वजनिक, अर्ध-सार्वजनिक, बस/फ्लीट और पूरे भारत में होम चार्जर सेगमेंट में 10 करोड़ (100 मिलियन) हरित किलोमीटर तक बिजली पहुंचाने वाली पहली ईवी चार्जिंग समाधान प्रदाता बन गई है। यह उपलब्धि देश भर में टिकाऊ मोबिलिटी समाधानों को बढ़ावा देने में टाटा पावर की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करती है। 

वर्ष 2030 तक देश में हो रही वाहनों की कुल बिक्री में से 30% इलेक्ट्रिक हो इस लक्ष्य को लेकर भारत ने पर्यावरण के पूरक परिवहन का दृष्टिकोण अपनाया है। साथ ही FAME और नेशनल इलेक्ट्रिक मोबिलिटी मिशन जैसी योजनाओं के माध्यम से ई-मोबिलिटी को बढ़ावा दिया जा रहा है। ईवी चार्जिंग सुविधाओं की महत्वपूर्ण भूमिका को पहचानते हुए इस परिवर्तन के बुनियादी ढांचे के रूप में, टाटा पावर ने ईज़ी चार्ज के नाम से अपने नेटवर्क को 86,000 से अधिक होम चार्जर, 5,300+ सार्वजनिक, अर्ध-सार्वजनिक और फ्लीट चार्जिंग पॉइंट के साथ-साथ 530 शहरों में 850+ बस चार्जिंग स्टेशनों तक बढ़ाया है। लोगों की आसानी के लिए इन चार्जर्स को राजमार्गों, होटलों, मॉलों, अस्पतालों, कार्यालयों, आवासीय परिसरों आदि जैसे कई अलग-अलग और भारी आवाजाही वाले स्थानों पर रणनीतिक रूप से तैनात किया गया है। टाटा पावर के यह प्रयास भारत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी की तेज़ी से वृद्धि को सुविधाजनक बनाने में सहायक रहा है।

उद्योग के एक अनुमान के अनुसार, वर्ष 2030 तक भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की वार्षिक बिक्री 1 करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद है। टाटा पावर, देश भर में अपनी उपस्थिति के साथ, इस परिवर्तन में सबसे आगे है।

इलेक्ट्रिक वाहनों और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सेवाओं की मांग में वृद्धि के साथ, टाटा पावर आरएफआईडी कार्ड जैसे तकनीकी-सक्षम ग्राहक-केंद्रित समाधान भी ला रहा है। इस कार्ड के ज़रिए वायरलेस भुगतान करके ईवी मालिक बहुत ही आसनी से Tap.charge.go करने में सक्षम बन जाते हैं।

शून्य-उत्सर्जन गतिशीलता के प्रति अटूट समर्पण के लिए टाटा पावर को ‘शून्य इन्फ्रास्ट्रक्चर चैंपियन’ यह प्रतिष्ठित सम्मान मिला है। हाल ही में नई दिल्ली में दूसरे वार्षिक शून्य फोरम के दौरान पुरस्कार प्रदान किया गया। नीति आयोग द्वारा 2021 में शुरू किए गए शून्य – ज़ीरो पोल्यूशन मोबिलिटी कैम्पेन ने कई महत्वपूर्ण साझेदारियों को बढ़ावा दिया है। जिसमें भारत सरकार का नागरिक जुड़ाव मंच MyGov और करीबन 200 उद्योग भागीदार शामिल हैं। इन साझेदारियों में शामिल होकर ई-कॉमर्स और खाद्य वितरण कंपनियां, राइड-हेलिंग सेवाएं, वाहन निर्माता, फ्लीट एग्रीगेटर्स, बुनियादी सुविधाओं के प्रदाता और फाइनेंसर इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) इकोसिस्टम में स्वच्छ गतिशीलता के परिदृश्य को आकार देने में सहायक हैं।