Monday , July 15 2024

‘मेरी चाय की प्याली में उंगली डूबा के शक्कर बताना छोड़ दोगी क्या…’

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। लखनऊ विश्वविद्यालय में तृतीय इंटर हॉस्टल कॉम्पिटिशन फेस्ट 2024 के छठे दिन मुख्य आकर्षण पाक कला प्रतियोगिता, कविता पाठ और मुशायरा रहा। पाक कला प्रतियोगिता में कुलपति प्रो. आलोक कुमार राय ने चंद्र शेखर आज़ाद हॉस्टल पहुंचकर महिला एवम पुरुष छात्रावासों के प्रतिभागियों का प्रोत्साहन किया और उनके बनाये व्यंजनों का परीक्षण किया। खराब मौसम होने के बावजूद प्रतिभागियों का उत्साह सराहनीय रहा। 

मास्टर शेफ इंडिया से शेफ नंदनी दिवाकर और डा. मानिनी श्रीवास्तव पाक कला प्रतियोगिता की जज रहीं l अफगानी पनीर मसाला, बास्केट चाट, चुकंदर का रायता, मोदक, गाजर का हलवा सबसे पसंदीदा व्यंजनों में थे। पुरुष वर्ग में हबीबुल्ला हाल और महिला वर्ग में डा. बीआर अम्बेडकर हाल प्रथम स्थान प्राप्त करने में सफल रहा। प्रतियोगिता का आयोजन डॉ. अलका मिश्रा ने सफलतापूर्वक किया।

मालवीय सभागार में आयोजित मुशायरे और कविता -पाठ में प्रो. मधुरिमा लाल, प्रो. योगेन्द्र प्रताप सिंह और नवाब मसूद अब्दुल्ला ने निर्णायक की भूमिका निभाई। ‘मेरी चाय की प्याली में उंगली डूबा के शक्कर बताना छोड़ दोगी क्या’, ‘यह मेरा लखनऊ है’ जैसी कई कविताएं और मुशायरे आकर्षण का केंद्र बनी। कविता पाठ महिला वर्ग में बीआर अंबेडकर की शैलजा यादव प्रथम, सीएसए की वैष्णवी राय द्वितीय और पुरुष वर्ग में महमूदाबाद के प्रमुदित पांडेय प्रथम व सुभाष हॉल के रजनीश यादव द्वितीय स्थान पर रहे। कुलपति की गरिमामय उपस्थिति ने सभी प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाया l

सभी कार्यक्रम मुख्य प्रोवोस्ट प्रो. अनूप कुमार सिंह और डीन छात्र कल्याण प्रो. संगीता साहू, प्रो. मनीषा बनर्जी एवं सभी प्रोवोस्ट, सहायक प्रोवोस्ट और कुलानुशाशक मण्डल के निरंतर निगरानी में सम्पन्न हुए।