Friday , July 19 2024

पत्रकारों के लिए सराहनीय है पवन सिंह चौहान का समर्पण : NUJ (I)

– पत्रकारों के परिजनों के लिए योग्यता अनुसार रोजगार देने की सार्वजनिक घोषणा अभिनंदनीय

– एनयूजे (आई) की राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक में अप्रतिम सहयोग के लिए उत्तर प्रदेश इकाई ने जताया आभार

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। पत्रकारों और उनके परिजनों के लिए विधान परिषद सदस्य एवं एसआर ग्रुप के चेयरमैन पवन सिंह चौहान का समर्पण और प्रतिबद्धता सराहनीय है। पत्रकारों के परिजनों के लिए उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार देने की पवन सिंह चौहान द्वारा सार्वजनिक घोषणा किया जाना ऐतिहासिक के साथ ही अभिनंदनीय है। उक्त वक्तव्य एनयूजे, उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सक्सेना ने पवन सिंह चौहान के धन्यवाद ज्ञापन के तौर पर दिया। उन्होंने कहा कि एसआर कॉलेज में 7 जनवरी को हुई एनयूजे (आई) की राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक में उनके द्वारा किए गए अप्रतिम सहयोग के लिए संगठन की उत्तर प्रदेश इकाई धन्यवाद ज्ञापित करती है।

एनयूजे, उत्तर प्रदेश के महामंत्री संतोष भगवन ने भी एसआर कॉलेज में 7 जनवरी को राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक में भव्य स्वागत एवं सम्मान प्रदान किए जाने पर एसआर ग्रुप के चेयरमैन पवन सिंह चौहान का आभार प्रकट किया है। उन्होंने अपने संदेश में कहा है कि विधान परिषद सदस्य पवन सिंह चौहान ने सार्वजनिक मंच से यह घोषणा करना कि पत्रकारों के परिजनों एवं इष्ट-मित्रों को देश भर में कहीं भी रोजगार अथवा अन्य किसी सहयोग की आवश्यकता पड़ने की स्थिति में उनकी ओर से हरसंभव मदद करने का प्रयास किया जाएगा। इससे पत्रकारों के परिजनों को जीवन-यापन करने में काफी सहूलियत होगी। प्रदेश कोषाध्यक्ष अनुपम चौहान ने कहा कि एमएलसी पवन सिंह चौहान ने पूर्व में भी संगठन द्वारा आयोजित धार्मिक तीर्थाटन यात्राओं में सहयोग किया था। उनके द्वारा श्री अयोध्या धाम एवं नैमिष धाम की यात्रा में किये गए सहयोग को आज तक अधिकांश पत्रकारों के परिजन स्मरण करते हैं। उन्होंने बताया कि 350 सदस्यों ने नैमिष यात्रा और 750 से अधिक प्रतिनिधियों ने अयोध्या धाम की यात्रा की थी। दोनों ही यात्राओं में सम्मान, उपहार और यात्रा के लिए बसों आदि की व्यवस्था एमएलसी पवन सिंह चौहान के सहयोग से प्राप्त हुए थीं।

एनयूजे, उत्तर प्रदेश के प्रवक्ता/मीडिया प्रभारी डॉ.अतुल मोहन सिंह ने अपने संदेश में कहा कि एमएलसी पवन सिंह चौहान की लोकप्रियता के पीछे उनका व्यक्तित्व ही है। सहजता के साथ वह किसी को भी अपना बना लेते हैं। जरूरत के वक्त पत्रकारों के घरों में उनका अचानक पहुंच जाना और बिना बताए हर संभव सहयोग प्रदान करना उनको अन्य राजनेताओं से अलग बनाता है। वह राजनेता से पहले समाजसेवी, शिक्षाविद और मोटिवेशनल स्पीकर हैं।