Friday , March 1 2024

नए निजी विश्वविद्यालयों की स्थापना से प्रदेश में शिक्षा के स्तर में होगा सुधार – मुख्य सचिव

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में निजी क्षेत्र के अन्तर्गत विश्वविद्यालय एवं परिसर दूरस्थ केंद्र की स्थापना के लिए गठित उच्च स्तरीय समिति की बैठक आयोजित

बैठक में समिति द्वारा की गई 01 नए निजी विश्वविद्यालय एवं 02 परिसर दूरस्थ केंद्र स्थापित करने हेतु आशय पत्र जारी करने की संस्तुति

लखनऊ (टेलीस्कोप टुडे संवाददाता)। मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र की अध्यक्षता में निजी क्षेत्र के अन्तर्गत विश्वविद्यालय एवं परिसर दूरस्थ केंद्र की स्थापना के लिए गठित उच्च स्तरीय समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में समिति के समक्ष निजी क्षेत्र के अन्तर्गत विश्वविद्यालय एवं परिसर दूरस्थ केंद्र की स्थापना के संबंध में 03 प्रस्ताव प्रस्तुत किये गये। विचार-विमर्श के उपरान्त समिति ने 01 निजी विश्वविद्यालय-राधा गोविंद विश्वविद्यालय-चंदौसी (संभल) एवं 02 परिसर दूरस्थ केंद्र-जीएलए विश्वविद्यालय परिसर दूरस्थ केंद्र-ग्रेटर नोएडा तथा आईआईएमटी विश्वविद्यालय परिसर दूरस्थ केंद्र-ग्रेटर नोएडा को आशय पत्र जारी करने की संस्तुति की।

अपने संबोधन में मुख्य सचिव ने कहा कि प्रदेश में ही युवाओं को बेहतर ढंग से उच्च शिक्षा हासिल हो सके इसके लिए शासन लगातार प्रयास कर रहा है। नए प्राइवेट विश्वविद्यालयों की स्थापना से प्रदेश में शिक्षा के स्तर में सुधार होगा और विद्यार्थियों को प्रदेश में ही गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त होगी। इसके अलावा लोगों के लिये रोजगार के नये अवसर भी सृजित होंगे। बैठक में प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा एमपी अग्रवाल, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास अनिल कुमार सागर, प्रमुख सचिव प्राविधिक शिक्षा एम. देवराज सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण व वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारी एवं संबंधित विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधिगण आदि उपस्थित थे।